Moneycontrol » समाचार » बाज़ार खबरें

SBI ने ग्राहकों को दिया फेस्टिव गिफ्ट, MCLR में 0.10 फीसदी की हुई कटौती

SBI ने लगातार छठी बार ब्याज दरों में कटौती करने की घोषणा की है।
अपडेटेड Oct 09, 2019 पर 14:46  |  स्रोत : Moneycontrol.com

देश के सबसे बड़े सरकारी बैंक SBI ने अपने ग्राहकों को दीवाली गिफ्ट दे दिया है। अगर आपने SBI से होम लोन, ऑटो लोन या पर्सनल लोन लिए हैं तो आपके लिए ये खुशखबरी है। दरअसल SBI ने MCLR में 10 आधार अंक घटा दिया है। यानी 0.10 फीसदी की कटौती करने की घोषणा कर दी है। बता दें कि SBI ने लगातार छठी बार ब्याज दरों में कटौती करने की घोषणा की है। इस नई कटौती के बाद MCLR 8.15 फीसदी से घटकर 8.05 फीसदी प्रति वर्ष हो गया। नई दर 10 अक्टूबर 2019 से लागू होगी।
बैंक ने जारी किए गए अपने बयान में कहा कि फेस्टिव सीजन को देखते हुए ये कटैती की गई है।


इसके पहले RBI ने एक सकुर्लर जारी कर बैंकों के लिए यह अनिवार्य कर दिया था कि कि सभी बैंक पर्सनल या रिटेल या एमएसएमई के लिए सभी नए लोन की फ्लोटिंग ब्याज दर को एक बाहरी बेंचमार्क से जोड़ दें। लिहाजा पिछले महीने SBI ने RBI के दिशा-निर्देशों के तहत MSME, हाउसिंग और रिटेल लोन को एक्सटर्नल बेंचमार्क के तहत लोन देने की घोषणा की थी। 


RBI द्वारा रेपो रेट घटाने के बाद SBI ने MCLR पर आधारित कर्ज की दरों को कम कर दिया है। मतलब ये हुआ कि अब हर महीने EMI के लिए 0.10 फीसदी कम पैसा चुकाना होगा। बता दें कि MCLR घटने से मौजूदा लोन सस्ते हो जाएंगे। जिससे ग्राहकों को पुरानी EMI के मुकाबले घटी हुई EMI देनी होगी।


जानिए क्या है MCLR ?


MCLR को मार्जिनल कॉस्ट ऑफ लेंडिंग रेट कहते हैं। इसके तहत बैंक अपने फंड की लागत के हिसाब से लोन की दरें तय करते हैं। ये बेंचमार्क दर होती है। इसके बढ़ने से आपके बैंक से लिए गए सभी तरह के लोन महंगे हो जाते हैं। साथ ही MCLR घटने पर लोन की EMI सस्ती हो जाती है।



सोशल मीडिया अपडेट्स के लिए हमें Facebook (https://www.facebook.com/moneycontrolhindi/) और Twitter (https://twitter.com/MoneycontrolH) पर फॉलो करें।