Moneycontrol » समाचार » बाज़ार खबरें

इस दिग्गज पेंट कंपनी की इनसाइडर जानकारी लीक करने पर सेबी ने लगाया 15 लाख का दंड

इससे पहले भी सेबी द्वारा बजाज ऑटो, अंबूजा सीमेंट, विप्रो और माइंडट्री के आर्थिक नतीजे घोषित किये जाने के पहले ही वाट्सएप मसेज के द्वारा ये नतीजे लीक करने पर कुछ लोगों पर दंड लगाया जा चुका है।
अपडेटेड Jun 18, 2020 पर 09:38  |  स्रोत : Moneycontrol.com

कंपनी के आर्थिक रिजल्ट की अधिकृत घोषणा होने से पहले वाट्सएप मेसेज से दिग्गज पेंट कंपनी एशियन पेंट्स के तिमाही आर्थिक नतीजों से संबंधित संवेदनशील जानकारी लीक करने की घटना की जांच सेबी द्वारा की गई है। सेबी ने इस मामले में नीरज कुमार अग्रवाल को दोषी मानते हुए उन पर 15 लाख का दंड लगाया है। सेबी ने सोमवार की शाम को यह जानकारी दी है।


सेबी को सूचना मिली थी कि कंपनियों के आर्थिक नतीजों की घोषणा होने के पहले ही अप्रकाशित और कीमती संवेदनशील जानकारी वाट्सएप ग्रुप में भेजी जा रही है जिसके बाद सेबी द्वारा इसकी जांच की गई। इसके पहले की जांच में ऐटिक स्टॉक ब्रोकिंग लिमिटेड में काम करने वाली श्रुती वोरा पर एशियन पेंट्स की इनसाइडर जानकारी लीक करने के मामले में दंड लगाया गया था।


इससे पहले भी सेबी द्वारा बजाज ऑटो, अंबूजा सीमेंट, विप्रो और माइंडट्री के आर्थिक नतीजे घोषित किये जाने के पहले ही वाट्सएप मसेज के द्वारा ये नतीजे लीक करने पर कुछ लोगों पर दंड लगाया जा चुका है।


लोकसत्ता में छपी खबर के मुताबिक सेबी द्वारा इस मामले की जांच के दौरान 26 संबंधित वाट्सएप ग्रुप की जांच की गई और 190 हैंड्ससेट कब्जे में लिया गया था। कब्जे में लिये गये हैंडसेट् की जांच में पता चला कि करीब 12 कंपनियों की अप्रकाशित कीमती संवेदनशील जानकारी वाट्सएप के माध्यम से ग्रुप में लीक की गई है। एशियन पेंट्स के तिमाही आर्थिक नतीजे घोषित होने के पहले वाट्सग्रुप में साझा कर दिये गये थे। इसको आधार मानते हुए मई 2017 की अवधि के दौरान प्रोहिबिशन ऑफ इनसाइडर ट्रेडिंग अधिनियम 2015 का उल्लंघन होने के कारण उनके ऊपर आरोप तय किये गये।


एटिक स्टॉक ब्रोकिंग के नीरजकुमार अग्रवाल ने एशियन पेंट्स लिमिटेड से संबंधित अप्रकाशित कीमती संवेदनशील जानकारी वाट्सएप मेसेज के द्वारा लीक की है, ये साबित हुआ है ऐसा सेबी ने अपने 36 पेजों के आदेश में कहा है।


सोशल मीडिया अपडेट्स के लिए हमें Facebook (https://www.facebook.com/moneycontrolhindi/) और Twitter (https://twitter.com/MoneycontrolH) पर फॉलो करें।