Moneycontrol » समाचार » बाज़ार खबरें

एयरपोर्ट पर और कड़े होंगे सुरक्षा के इंतजाम, हाव-भाव से पकड़े जाएंगे संदिग्ध

एयरपोर्ट पर बिहेवियर डिटेक्शन की तैयारी है। BCAS बिहेवियर डिटेक्शन तकनीक अपनाएगी।
अपडेटेड Sep 03, 2019 पर 19:13  |  स्रोत : CNBC-Awaaz

एयरपोर्ट्स पर सिक्योरिटी के लिए टेक्नोलॉजी का इस्तेमाल नई बात नहीं है, लेकिन अब आपके हाव-भाव और बॉडी लैंग्वेज पर भी टेक्नोलॉजी के जरिए नजर रखी जाएगी। एयरपोर्ट पर बिहेवियर डिटेक्शन की तैयारी है। इसके लिए BCAS यानी Bureau of Civil Aviation Security बिहेवियर डिटेक्शन तकनीक अपनाएगी। अब हावभाव, बॉडी लैंगवेज से खतरे का अंदाजा लगाया जाएगा। इसके लिए एयरपोर्ट के कैमरे सॉफ्टवेयर से जोड़े जाएंगे। इस  टेक्नोलॉजी हजारों की भीड़ में संदिग्ध की पहचान संभव होगी। खतरनाक व्यवहार को समझने के सुरक्षाकर्मियों को प्रशिक्षित किया जाएगा। बिहेवियर डिटेक्शन का ट्रेनिंग मॉड्यूल बनेगा और CISF के जवानों को इसके लिए अलग से ट्रेनिंग दी जाएगी। अमेरिका और इंग्लैंड से इस मॉड्यूल के लिए संपर्क किया गया है। बता दें कि अमेरिका में इस तकनीक का प्रयोग हो रहा है। इजराइल में भी ये तकनीक अपनाई जा रही है।


सुरक्षा के लिए जिम्मेदार एजेंसी BCAS एक ऐसा सिस्टम लाने की तैयारी में है जिससे किसी के चेहरे के हावभाव या बॉडी लैंग्वेज को देखकर खतरे का अंदाजा लगाया जा सकेगा। इंग्लैंड और अमेरिका से बिहेवियर डिटेक्शन ट्रेनिंग मॉड्यूल के लिए संपर्क करने के बाद भारत खुद अपना ट्रेनिंग मॉड्यूल बनाएगा। इसके तहत CISF के जवानों को ट्रेनिंग दी जाएगी, साथ ही एयरपोर्ट के कैमरों को एक खास सॉफ्टवेयर से भी जोड़ा जाएगा। दरअसल किसी भी अपराध को करने की मंशा रखने पर लोगों के व्यवहार में बदलाव आ जाता है और इसी बदलाव को बिहेवियर डिटेक्शन के जरिए पहचाना जाएगा।


 


सोशल मीडिया अपडेट्स के लिए हमें Facebook (https://www.facebook.com/moneycontrolhindi/) और Twitter (https://twitter.com/MoneycontrolH) पर फॉलो करें।