Moneycontrol » समाचार » बाज़ार खबरें

दुकानदार करेंगे आर्थिक सर्वे-ग्राहक से मांगेंगे आमदनी, खर्च की जानकारी

आम लोगों की आमदनी और खर्च का पैटर्न जानने के लिए सरकार एक मेगा आर्थिक सर्वे कराने जा रही है।
अपडेटेड Sep 04, 2019 पर 14:19  |  स्रोत : CNBC-Awaaz

सामान खऱीदते वक्त दुकानदार अगर ये पूछे कि आप कैसे कमाते हैं, कैसे खर्च करते हैं औऱ क्या खरीदना आपको सबसे ज्यादा पसंद है तो आप चौंकिएगा नहीं। दरअसल आम लोगों की आमदनी और खर्च का पैटर्न जानने के लिए सरकार एक मेगा आर्थिक सर्वे कराने जा रही है। ये जानकारी जुटाने के लिए उन दुकानदारों का सहारा लिया जा रहा है जिनसे आप रोजमर्रा के सामान खरीदते हैं।


रेस्तरां में खाने पीने पर आप हर महीने कितना खर्च करते हैं। राशन का बजट आपका कितना है और आपकी कमाई का जरिया क्या है कुछ ऐसे ही सवाल कारोबारी शॉपिंग करते वक्त आपसे पूछ सकते हैं। क्योंकि सरकार चाहती है कि पूरे देश भर में लोगों की आमदनी और खर्च के पैटर्न पर एक आर्थिक सर्वे कराया जाए। ताकि सटीक सरकारी नीतियां बनाई जा सके। और ऐसी जानकारी देने में उन दुकानदारों से बेहतर कौन हो सकता है जिनसे आपका वास्ता रोज का है। इसी वजह से सरकार इन छोटे कारोबारियों के करार करने जा रही है ताकि इन जरिये आपकी जानकारी जुटाई जा सके।


ये जानकारी सिर्फ ग्राहकों के लिए ही नहीं है। बल्कि जो दुकानदार आपकी जानकारी जुटा रहे होंगे उन्हें अपना ब्यौरा देना होगा। जिसमें वो अपने टर्नओवर, अपने कर्मचारियों की कमाई और रहन सहन हिसाब किताब देना होगा।


इसमें देश भर के करीब 7 करोड़ कारोबारी शामिल किए जाएंगे। इस सर्वे में कारोबारियों से ये भी पूछा जाएगा कि क्या उन्हें लोन की जरूरत हैं। सरकार सेवाओं का उनका अनुभव कैसा रहा है। इन सबके लिए एक खास ऐप भी तैयार किया गया है।


दरअसल सरकार ने बिहार, पुड्डुचेरी, त्रिपुरा, छत्तीसगढ़ जैसे राज्यों में अगस्त से इस सर्वे की शुरुआत तो की है लेकिन सीधे ग्राहकों से जानकारी जुटाना मुश्किल हो रहा है। इसलिए कारोबारी के साथ करार करने का फैसला लिया गया है। इस सर्वे में कारोबारियों के अलावा 20 करोड़ परिवारों को भी शामिल किया जा रहा है। अगले 4 महीने में सर्वे पूरा होने की संभावना है। इसका मकसद आम लोगों के अनुभव के आधार पर सफल और सटीक सरकारी नीतियां बनाना है।


 


सोशल मीडिया अपडेट्स के लिए हमें Facebook (https://www.facebook.com/moneycontrolhindi/) और Twitter (https://twitter.com/MoneycontrolH) पर फॉलो करें।