Moneycontrol » समाचार » बाज़ार खबरें

8 जून से शॉपिंग का मिलेगा मजा, जानिए आपके शॉपिंग को सुरक्षित रखने के लिए क्या है मॉल्स की तैयारी

अनलॉक-1 के तहत 8 जून से शॉपिंग मॉल्स खोलने की इजाजत दे दी गई है, लेकिन मॉल्स में शॉपिंग अब पहले जैसी नहीं रहेगी।
अपडेटेड Jun 05, 2020 पर 10:34  |  स्रोत : CNBC-Awaaz

अनलॉक-1 के तहत 8 जून से शॉपिंग मॉल्स खोलने की इजाजत दे दी गई है, लेकिन मॉल्स में शॉपिंग अब पहले जैसी नहीं रहेगी। मॉल्स में शॉपिंग करते वक्त किन सावधानियों का ध्यान रखना  जरूरी होगा। आइए जानते है।


पिछले 2 महीने से सूने पड़े शॉपिंग मॉल्स एक बार फिर से चमकने के लिए तैयार हो रहे है। कैसे कोरोना के बचाव के साथ-साथ खरीदारी को भी सुरक्षित बनाया जाए इसके लिये बाकायदा एक SOP तैयार किया गया है जिसके तहत हर कस्टमर और दुकानदार के लिए आरोग्य सेतू एप होना जरूरी है, मॉल्स में एंट्री पर मास्क, Sanitization और थर्मल स्क्रीनिंग को भी अनिवार्य किया गया है।


Escalator पर एक वक्त पर 3 से अधिक लोग नहीं होंगे और 2 लोगों के बीच 3 सीढ़ियों का अंतर होगा। मेक अप से जुड़े प्रोडक्ट्स, जूते और Perfume जैसी चीजों के ट्रायल पर पूरी तरह पाबंदी होगी। शोरूम के अंदर ग्राहकों की संख्या एक टाइम पर 5 से ज्यादा नहीं होगी। इसके अलावा मॉल प्रशासन वाशरूम, फूड कोर्ट जैसी जगह की साफ सफाई पर खास ध्यान दिया जाएगा।


मॉल मालिकों का कहना है कि पहले दिन से ही कस्टमर को ये भरोसा दिलाना चाहते हैं कि मॉल्स में खरीदारी करना पूरी तरह सेफ है। शॉपिंग मॉल्स खोले जाने के फैसले पर रिटेल इंडस्ट्री ने संतुष्टि दिखाई है। हालांकि जानकारों के मुताबिक अभी हालात सुधरने में लंबा वक्त लगेगा।


केंद्र सरकार ने तो शॉपिंग मॉल्स खोलने की इजाज़त दे दी लेकिन राज्य सरकारें कोरोना की ज़मीनी स्थिति को भांपते फिलहाल शॉपिंग मॉल्स खोलने  या न खोलने का फैसला अपने स्तर पर ले रही है, क्योंकि चुनौती अभी भी वही है कि कही ज़्यादा ढील देने के चक्कर में ज़्यादा संक्रमण न फैल जाए।


सोशल मीडिया अपडेट्स के लिए हमें Facebook (https://www.facebook.com/moneycontrolhindi/) और Twitter (https://twitter.com/MoneycontrolH) पर फॉलो करें।