Moneycontrol » समाचार » बाज़ार खबरें

लॉकडाउन के बाद बदलेगी शॉपिंग, Jiomart बदलेगा ऑनलाइन शॉपिंग का तरीका

17 मई के बाद देश के कई हिस्सों में लॉकडाउन हट सकता है। जिंदगी काफी कुछ पहले जैसी हो सकती है।
अपडेटेड May 12, 2020 पर 13:13  |  स्रोत : CNBC-Awaaz

17 मई के बाद देश के कई हिस्सों में लॉकडाउन हट सकता है। जिंदगी काफी कुछ पहले जैसी हो सकती है। हो सकता है आप जहां रहते हों वहां पर मॉल, मल्टीप्लेक्स और ई-कॉमर्स को हरी झंडी मिल जाए। लेकिन ये सब कुछ होगा कुछ शर्तों के साथ। लेकिन आइए जानते है कि  ई-कॉमर्स में क्या बदलाव होने वाला है।



जब खुलेंगे मॉल


लॉकडाउन के बाद मॉल और मल्टीप्लैक्स खोलने की  तैयारी चल रही है लेकिन शॉपिंग सेंटर एसोसिएशन ऑफ इंडिया (SCAI) ने  मॉल खोलने के लिए कई कायदे तैयार किए है। DLF, Phoenix, In orbit, infiniti सहित कई मॉल्स SCAI के सदस्य है।



कैसे खुलेंगे मॉल


लॉकडाउन के बाद चरण बद्ध तरीके से मॉल  खोले जाएंगे। पहले चरण में सुपर मार्केट, फुटवियर, चश्में की दुकानें शामिल होगी। वहीं दूसरे चरण में फूड कोर्ट और F&B स्टोर्स को इजाजत होगी। तीसरे चरण में मल्टीप्लेक्स को हरी झंडी मिलेगी। पहले चरण में सिर्फ 50% पार्किंग की इजाजात होगी। लॉकडाउन के बाद मॉल में कोई प्रमोशनल इवेंट नहीं होगा।  सभी एंट्री एग्जिट पर हैंड सेनेटाइजर्स जरूरी होगा। नो कैश, सिर्फ डिजिटल पेमेंट की इजाजत होगी।  एंट्री और एग्जिट गेट पर थर्मल स्क्रीनिंग जरूरी होगी। पेमेंट लाइन में 1 मीटर पर सोशल डिस्टेंसिंग मार्क किया जायेगा।
 
बदलेगा ई-कॉमर्स का तरीका


इधर ई-कॉमर्स का तरीका भी बदल जायेगा।  नया मॉडल Offline to Online का होगा। किराना दुकानों का ई-कॉमर्स प्लेटफॉर्म पर विस्तार होगा। Jiomart से ई-कॉमर्स का तरीका बदलेग। Jiomart ने कुछ जगहों पर वॉट्सऐप से ऑर्डर लेना शुरु किए है।  Amazon भी दुकानदारों से हाथ मिलाने की तैयारी कर रहा है। DPIIT और CAIT भी किराना दुकानों का ई-प्लेटफॉर्म बना रहे है।


डिलिवरी का तरीका


कॉन्टेक्टलैस डिलिवरी  जारी रहेगी। जरूरी सामन की डिलिवरी को प्राथमिकता दी जायेगी जबकि गैर जरूरी सामान की डिलिवरी में वक्त लगेगा।


डिस्काउंट का क्या होगा?


कंपनियां अब ज्यादा डिस्काउंट नहीं देंगी। लॉकडाउन से हुए घाटे के चलते डिस्काउंट कम रहेंगे।


और क्या बदलेगा?


ई-कॉमर्स ही कारोबार का नया तरीका होगा। दूध, अंडे ,ब्रेड जैसी चीजों की ऑनालाइन डिमांड बढ़ेगी। कंपनियां वेयरहाउस की संख्या बढ़ा रही है। ज्यादातर कंज्यूमर ब्रांड ई-कॉमर्स का रास्ता लेंगे। लॉजिस्टिक कंपनियों में बढ़ेंगे नौकरी के मौके मिलेगे।


सोशल मीडिया अपडेट्स के लिए हमें Facebook (https://www.facebook.com/moneycontrolhindi/) और Twitter (https://twitter.com/MoneycontrolH) पर फॉलो करें।