Moneycontrol » समाचार » बाज़ार खबरें

दिसंबर में थमी ऑटो सेक्टर की रफ्तार

प्रकाशित Mon, 14, 2019 पर 17:00  |  स्रोत : CNBC-Awaaz

ऑटोमोबाइल कंपनियों के लिए दिसंबर का महीना निराशाजनक रहा। पैसेंजर कार के साथ साथ दोपहिया वाहनों और कॉमर्शियल वाहनों की बिक्री में भी गिरावट दर्ज की गई है। सोसायटी ऑफ इंडियन ऑटोमोबाइल मैन्युफैक्चरर्स सियाम की ओर से जारी आंकड़ों के अनुसार, घरेलू पैसेंजर्स व्हीकल्स की बिक्री में 0.4 प्रतिशत गिरावट देखी गई। इस सेगमेंट में सिर्फ पैसेंजर कारों की बात की जाय तो इसमें भी लगभग 2 फीसदी गिरावट देखी गई। लेकिन पूरे 2018 की बात की जाए तो बीते साल के मुकाबले 2018 में पैसेंजर्स व्हीकल की बिक्री 5.08 फीसदी बढ़ी है। दिसंबर के दौरान कमर्शियल, दोपहिया समेत सभी कैटेगरी के वाहनों की बिक्री गिरी है।


पिछले सप्ताह ऑटो डीलर्स एसोसिएशन एफएडीए ने भी अपने मासिक ब्रक्री आंकड़े जारी किए थे। ये आकड़े रिटेल बिक्री की सही जानकारी देने का दावा करते हैं। सीएनबीसी-आवाज़ ने सियाम और फाडा के आकड़ों को मिलाया तो इनमें काफी अंतर देखने को मिला है। क्या अंतर है दोनों के आंकड़े में आइए देखते हैं। सियाम के मुताबिक दिसंबर में कुल 1259026 दोपहिया गाड़ियां बिकी जबकि फाडा के मुताबिक यह संख्या 1141209 थी यानी 10.3 फीसदी का अंतर। यानी लगभग 1 लाख गाड़ियां अभी भी डीलरशिप में ही पड़ी हुई हैं। सियाम के मुताबिक दिसंबर में दोपहिया गाड़ियों में 2.2 फीसदी की गिरावट थी जबकि फाडा के मुताबिक यह 11 फीसदी बेहतर था। सियाम के मुताबिक दिसंबर में 75984 कमर्शियल गाड़ियां बिकी जबकि फाडा का कहना है कि यह संख्या सिर्फ 53712 थी। यानी लगभग 30 फीसदी का अंतर। पैसेंजर कारों में सियाम का अनुमान 238,692 है जबकि फाडा के आंकड़े हैं 202585 यानी 17 फीसदी का अंतर।