Moneycontrol » समाचार » बाज़ार खबरें

घोटालों से रीकैप के पैसे कम पड़ेंगे: एसएंडपी

प्रकाशित Wed, 07, 2018 पर 12:57  |  स्रोत : CNBC-Awaaz

मुश्किल में फंसे सरकारी बैंकों पर एनपीए के साथ ही अब घोटालों की दोहरी मार पड़ रही है। ग्लोबल रेटिंग एजेंसी एसएंडपी ने कहा है कि एनपीए से निपटने के लिए भले ही रीकैपिटलाइजेशन से मदद मिलेगी लेकिन बड़े घोटालों के सामने आने पर बैंकों को और ज्यादा पूंजी की जरूरत पड़ेगी। एसएंडपी ने सरकारी बैंकों में  तुरंत रिफार्म करने पर जोर दिया है। एसएंडपी का कहना है कि पीएनबी फ्रॉड के बाद ऐसा करना तुरंत जरूरी हो गया है।


हालांकि रेटिंग एजेंसी का मानना है कि कड़े रेग्‍युलेटरी नियम और कैपिटल डालने के फैसले से बैंकों की बैलेंसशीट सुधर सकती है। रेटिंग एजेंसी ने अनुमान व्‍यक्‍त किया है कि देश के बैंकिंग सेक्‍टर में एनपीए की समस्‍या अनुमान से ज्‍यादा हो सकती है। पिछले 2 साल में बैंकों के एनपीए में बढ़त दिखी है। बैंकों को सरकारी मदद जारी रहने की उम्मीद है। स्थिति मजबूत होने पर पीएसयू बैंकों का मर्जर संभव है।