Moneycontrol » समाचार » बाज़ार खबरें

S&P ने भारत का विकास अनुमान घटाकर 6.3 फीसदी किया

रेटिंग एजेंसी S&P ने कहा कि भारत में आर्थिक सुस्ती ज्यादा है और उम्मीद से ज्यादा व्यापक है।
अपडेटेड Oct 03, 2019 पर 09:01  |  स्रोत : Moneycontrol.com

ग्लोबल रेटिंग एजेंसी S&P ने फिस्कल ईयर 2019-20 के लिए भारत के विकास अनुमान को 7.1 फीसदी से घटाकर 6.3 फीसदी कर दिया है, लेकिन ये भी उम्मीद जताई है कि 2020-21 में 7 फीसदी के स्तर तक पहुंच जाएगी।


S&P ने एशिया-पैसफिक रीजन के लिए अपनी अप्रैल-जून तिमाही रिपोर्ट में कहा है कि, भारत में आर्थिक सुस्ती ज्यादा है और उम्मीद से ज्यादा फैली हुई है। अप्रैल-जून तिमाही में आर्थिक विकास दर अनुमान 5 फीसदी स नीचे रही थी, जो कि 7 फीसदी का अनुमान जताया गया था। सबसे बड़ी बात आगाह करने वाली ये है कि इस तिमाही प्राइवेट कंजम्शन (निजी खपत) की वृद्धि दर घटकर तकरीबन 3 फीसदी रह गई है। जिसे हाल के वर्षों में विकास के इंजन के तौर देखा जाता रहा है।


रेटिंग एजेंसी ने कहा कि घरेलू आत्मविश्वास नरम बना हुआ है और हाल ही के तिमाहियों में खर्च को बनाए रखने के लिए सेविंग में सुस्ती को देखते हुए आगे ज्यादा सावधानी बरते जाने के संकेत हैं।


अर्थव्यवस्था को प्रोत्साहित करने के लिए सरकार के कॉरपोरेट टैक्स में कमी किए जाने के फैसले को लेकर रेटिं एजेंसी S&P ने कहा कि इससे GDP की तुलना में सरकारी खजाने पर 0.7 फीसदी का बोझ पड़ेगा। हालांकि एजेंसी ने अपनी रिपोर्ट में ये भी कहा है कि सरकार की कई छूटों खत्म करने से इसका फायदा खासा सीमित रहेगा। 


RBI की आने वाली मॉनिटरी पॉलिसी  पर S&P ने रेपो रेट में कटौती किए जाने की उम्मीद जताई है।      


सोशल मीडिया अपडेट्स के लिए हमें Facebook (https://www.facebook.com/moneycontrolhindi/) और Twitter (https://twitter.com/MoneycontrolH) पर फॉलो करें।