Moneycontrol » समाचार » बाज़ार खबरें

ड्राइवरलेस गाड़ियों के लिए बनेंगे नियम

प्रकाशित Thu, 12, 2018 पर 10:54  |  स्रोत : CNBC-Awaaz

भारत में ड्राइवरलेस कारों के आने में भले ही थोड़ा वक्त लग जाए लेकिन सरकार धीरे-धीरे खुद को इसके लिए तैयार कर रही है। ड्राइवरलेस कारों के लिए स्टैंडर्ड्स बनाने का काम शुरू हो गया है।


देश में गाड़ियों की टेस्टिंग के लिए जिम्मेदार ऑटोमोटिव रिसर्च एसोसिएशन ऑफ इंडिया यानि एआरएआई ड्राइवरलेस गाड़ियों के लिए नियम और स्टैंडर्ड्स बना रही है। ऑटोमेटेड ड्राइविंग कार भले ही एक क्रांतिकारी तकनीक हो लेकिन दुनिया के अलग-अलग देशों में इससे हुई दुर्घटनाओं ने कड़े रेगुलेशन की जरूरत को बढ़ा दिया है। लेकिन ऑटो इंडस्ट्री भी ये मानकर चल रही है कि देर सवेर ड्राइवरलेस कारों को अपनाना ही होगा और इसके लिए रेगुलेशन का होना जरूरी है।


एआरएआई भारतीय परिस्थितियों के हिसाब से ड्राइवर असिस्ट तकनीक विकसित कर रहा है। यानी वो तकनीक जिसमें ड्राइवर तो होगा लेकिन उसका काम काफी आसान होगा। कई गाड़ियों में पहले से ही ये तकनीक उपलब्ध है लेकिन भारतीय सड़कों के हिसाब से इन्हें बनाने की कोशिश पहली बार हो रही है। सेल्फ ड्राइविंग कारों के लिए ट्रैक्स की खास जरूरतों पर भी रिसर्च हो रहा है। इसके साथ ही सीमित क्षेत्रों में ड्राइवरलेस गाड़ियों को चलाने की संभावना पर भी विचार हो रहा है।