Moneycontrol » समाचार » बाज़ार खबरें

स्टार्टअप और स्मॉल-मीडियम सेगमेंट की कंपनियां भारी आर्थिक संकट में: लोकल सर्किल सर्वे

देश की 80 फीसदी से ज्यादा स्टार्टअप और स्मॉल-मीडियम सेगमेंट की कंपनियां भारी आर्थिक संकट में हैं।
अपडेटेड Jun 15, 2020 पर 16:51  |  स्रोत : CNBC-Awaaz

देश की 80 फीसदी से ज्यादा स्टार्टअप और स्मॉल-मीडियम सेगमेंट की कंपनियां भारी आर्थिक संकट में हैं। इनमें से कईयों के पास अगले 3 महीने तक भी कारोबार करने की पूंजी नहीं बची है। वही सरकार के आत्मनिर्भर भारत पैकेज से सिर्फ 14 पर्सेंट स्टार्टअप और छोटी कंपनियों को फायदा होता दिख रहा है। ये चौंकाने वाली बातें हाल ही में किए गए सर्वे में निकल कर समाने आई है।


लोकल सर्किल के इस  सर्वे से पता चलता है कि  80 फीसदी से ज्यादा स्टार्टअप/SMEs पर आर्थिक संकट है। छोटी कंपनियां कोरोना संकट से भारी दबाव में हैं।  महज 16 फीसदी स्टार्टअप/SME के पास 3-6 महीने का कैश है। सर्वे में शामिल 30 फीसदी भागीदारों के मुताबिक उनके पास 1-3 महीने का कैश है।  सर्वे में शामिल 14 फीसदी छोटी कंपनियां मानती हैं कि आत्मनिर्भर पैकेज से फायदा होगा। 35 फीसदी कंपनियों के मुताबिक अगले 6 महीने में ग्रोथ दिखेगा। सर्वे से पता चलता है कि 42 फीसदी स्टार्टअप/SMEs बंदी के कगार पर पहुंच गए हैं। दो महीने में छोटी कंपनियों पर आर्थिक दबाव बढ़ा है। जून में 27 फीसदगी से बढ़कर ये आंकड़ा 42 फीसदी पर पहुंच गया है यानी  42 फीसदी छोटी कंपनियां दबाव में हैं।


सोशल मीडिया अपडेट्स के लिए हमें Facebook (https://www.facebook.com/moneycontrolhindi/) और Twitter (https://twitter.com/MoneycontrolH) पर फॉलो करें।