Moneycontrol » समाचार » बाज़ार खबरें

Startup nation: को-वर्किंग स्पेस एग्रीगेटर Stylework का शानदार सफरनामा

भारत में को-वर्किंग स्पेस की जरूरत बढ़ी है तो स्पेस प्रोवाइडर्स की भी कमी नहीं है।
अपडेटेड Oct 01, 2019 पर 11:52  |  स्रोत : CNBC-Awaaz

भारत में को-वर्किंग स्पेस की जरूरत बढ़ी है तो स्पेस प्रोवाइडर्स की भी कमी नहीं है। लेकिन इतने सारे को-वर्किंग स्पेस में फ्रीलासंर्स का छोटे एंटरप्राइजेस की मदद के लिए इस स्पेस में ऐग्रीगेटर की जरूरत महसूस हुई और शुरू हुआ Stylework. चाहे गुरुग्राम हो या गोरेगांव या फिर पुणे या पठानकोट, महज 300 रुपए में आप पूरे दिन अपने काम के लिए एसी रूम बुक कर सकते हैं। इसके साथ ही आपको मिलेगी मुफ्त चाय-कॉफी, टेलीफोन, वेटिंग रूम और कांफ्रेंस हॉल सर्विस। यानि ये कि अपना ऑफिस बनाने और उसपर भारी भरकम खर्च करने की झंझट छोड़ आप अपनी टीम के साथ यहां काम कर सकते हैं। को-वर्किंग स्पेस की सुविधा के लिए एग्रिगेटर स्टाइलवर्क आपको ये सब सुविधा मुहैया करा रहा है। अपनी लोकेशन तय करिए और हर सीट की कीमत के हिसाब से ये एग्रीगेटर आपके सामने कई विकल्प रख देंगे।


साल 2017 में शुरू हुआ स्टार्टअप - स्टाइलवर्क - एग्रीगेटर के तौर पर देश भर में 200 से ज्यादा लोकेशन पर ऑफिस स्पेस के विकल्प मुहैया करा रहा है। आपको बस बजट और अपनी जरूरत की सीटें बतानी होंगी और बाकी काम स्टाइलवर्क करेगा। आप बजट और सुविधा के पैमाने पर कई विकल्पों में चुनाव कर सकते हैं। हर महीने के हिसाब से स्टाइलवर्क एक सीट के 6 हजार रुपए से 18 हजार रुपए के बीच चार्ज करता है, हालांकि कंपनी के फाउंडर एंड CEO स्पर्श खंडेलवाल का दावा है कि ये मार्केट रेट से कम दाम पर सुविधा दे रहे हैं।


कॉन्फ्रेंस रूम से लेकर ओपन कैंटीन तक सभी सुविधाओं की कीमत सीट की कीमत में शामिल है। एक सीट लेना चाहते हैं तो लोकेशन के हिसाब से 300 से 800 रुपए के बीच खर्च पड़ेगा। काम के चलते कई शहरों में आना जाना भी है तो स्टाइलवर्क के प्लैटफॉर्म से देश के किसी भी लोकेशन पर हर महीने के 5 हजार रुपए चुकाकर काम कर सकते हैं। शिफ्ट टाइमिंग, काम की जरूरत के मुताबिक सीटिंग अरेंजमेंट में बदलाव का विकल्प भी है। दो साल के अंदर ही 1500 से ज्यादा फ्रीलांसर, 25 बड़ी कंपनियां और 50 से ज्यादा स्टॉर्टअप्स अपनी ऑफिस स्पेस की जरूरत के लिए स्टाइलवर्क का इस्तेमाल कर रहे हैं।


करीब 20 लाख रुपए और 20 लोगों की टीम से स्टाइलवर्क की शुरुआत हुई लेकिन अब तक 6 एंजेल इन्वेस्टर इसके साथ जुड़ चुके हैं। स्टार्ट-अप ने तीन फेज में 60 लाख रुपए का निवेश जोड़ा है। वहीं पहले साल के 20 लाख रुपए के टर्न ओवर के मुकाबले स्टाइलवर्क ने अब तक 5 करोड़ का आंकड़ा पार कर लिया है। डिमांड के मद्देनजर स्टार्ट-अप को उम्मीद है कि इस फाइनेंशियल ईयर के अंत तक 15 करोड़ का टार्गेट हासिल कर लेंगे।


भारत में शहरीकरण नई रफ्तार पकड़ चुका है और 100 स्मार्ट शहर अब शक्ल ले रहे हैं। ऐसे में स्टाइलवर्क जैसे एग्रीगेटर स्टार्ट-अप्स और फ्रीलांसर्स की ऑफिस जरूरतों को पूरा कर रहे हैं।


 


सोशल मीडिया अपडेट्स के लिए हमें Facebook (https://www.facebook.com/moneycontrolhindi/) और Twitter (https://twitter.com/MoneycontrolH) पर फॉलो करें।