Moneycontrol » समाचार » बाज़ार खबरें

Startup nation: ऐप पर ऑर्डर करें किचन की जरूरतों का सामान, रात में ऑर्डर कर सुबह तक पाएं डिलिवरी

Milkbasket की शुरुआत ऐसे वक्त में हुई जब ई-ग्रोसरी और हाईपर लोकल में बड़े-बड़े प्लेयर मौजूद थे।
अपडेटेड Dec 16, 2019 पर 08:47  |  स्रोत : CNBC-Awaaz

दफ्तर से घर और घर से दफ्तर की दौड़ में किचन की जरूरत का सामान खरीदने का समय नहीं मिल पाता। इस दिक्कत को हल करने के लिए कई ग्रोसरी डिलिवरी कंपनियां सामने आई हैं। लेकिन दूध, ब्रेड, बटर जैसे सामान की डीलिवरी ये भी नहीं करते। ऐसी छोटी-छोटी जरूरतों में Milkbasket को बिजनेस मिला। Milkbasket ने तैयारी किया एक ऐसा माइक्रो-डिलिवरी मॉडल जिससे हर रोज सुबह के नाश्ते के सामान जुटाने के लिए आपके सिर्फ एक क्लिक करना होगा।


देर रात आपको एहसास हो कि आप सुबह के नाश्ते के लिए दूध, अंडा, ब्रेड या दूसरे जरूरी सामान लाना भूल गए हैं या फिर फ्रिज की रिफिलिंग नहीं की तो ऐसे में आपकी मदद करेगा Milkbasket । आपको बस रात 12 बजे तक ऐप पर अपनी जरूरत के सामान की जानकारी देनी होगी और सुबह 5 से 7 बजे के बीच आपके दरवाजे पर ब्रेक फास्ट का सामान होगा। इस दौड़ती-भागती जिंदगी में ग्राहक को छोटी-छोटी चीजों की टेंशन न लेनी पड़े इस कॉन्सेप्ट को ध्यान में रखकर अनंत गोयल और उनके 3 दोस्तों ने साल 2015 में Milkbasket की शुरुआत की।


ये स्टार्टअप फिलहाल 1.5 लाख परिवारों की ग्रेसरी से जुड़ी जरूरतों को पूरा कर रहा है और इस कस्टमर बेस में तेजी से इजाफा भी हो रहा है। फिलहाल दिल्ली, गुरुग्राम, नोएडा और बैंगलुरू में आप इनकी सर्विसेस ले सकते हैं। Milkbasket की शुरुआत ऐसे वक्त में हुई जब ई-ग्रोसरी और हाईपर लोकल में बड़े-बड़े प्लेयर मौजूद थे। लेकिन अनंत गोयल की राय है कि उनका कंपिटीशन इनसे नहीं क्योंकि Milkbasket का बिजनेस मॉडल बाकियों से एकदम अलग है।


Milkbasket प्री-पेड मॉडल पर काम करता है यानि ऑर्डर करने से पहले आपको रीचार्ज करना होगा। ऑनलाइन ग्रोसरी सेगमेंट में तेजी से विस्तार हुआ है। नए आइडिया को इनवेस्टर भी तुरंत लपकते हैं। यही वजह है कि Milkbasket को अब तक 180 करोड़ रुपए का निवेश हासिल हुआ है। स्टार्टअप उम्मीद रखता है कि आने वाले सालों में भी कंपनी की ग्रोथ में तेजी बरकरार रहेगी।


 


सोशल मीडिया अपडेट्स के लिए हमें Facebook (https://www.facebook.com/moneycontrolhindi/) और Twitter (https://twitter.com/MoneycontrolH) पर फॉलो करें।