Moneycontrol » समाचार » बाज़ार खबरें

साइबर सिक्योरिटी मार्केट पर पकड़ बनाता स्टार्टअप, जानिए Sequretek का सफरनामा

डिजिटल इकोनॉमी की बढ़ती रफ्तार के साथ ही साइबर अटैक का खतरा भी बढ़ा है और इसी उभरते मार्केट पर पकड़ बना रहा है स्टार्टअप Sequretek।
अपडेटेड Nov 14, 2019 पर 11:27  |  स्रोत : CNBC-Awaaz

दुनियाभर में साइबर सिक्योरिटी को लेकर चिंताएं बढ़ी हैं। इसके साथ ही कंपनियों और लोगों में साइबर सिक्योरिटी के प्रति जागरुकता की लहर भी सामने आई है। इसी उभरते मार्केट पर पकड़ बना रहा है स्टार्टअप Sequretek। 6 साल के सफर में इस स्टार्टअप ने कई देशों तक अपनी पहुंच बना ली है।


डिजिटल इकोनॉमी की बढ़ती रफ्तार के साथ ही साइबर अटैक का खतरा भी बढ़ा है। फिर कंपनी चाहे छोटी हो या बड़ी, सभी के लिए साइबर सिक्योरिटी अहम हो गई है। इस जरूरत को अफोर्डेबल और आसान बना रहा है स्टार्टअप Sequretek। रिसर्च कंपनी गार्टनर की एक रिपोर्ट के मुताबिक भारत में साइबर सिक्योरिटी का मार्केट 14 हजार करोड़ रुपए का है। इसकी तुलना में कवरेज काफी कम है। जरूरत और सप्लाई के इसी गैप को कम कर रहा है Sequretek।


6 साल पहले जब पंकित देसाई और उनके दोस्त आनंद नायक ने Sequretek की नींव रखी तो ये भारत में ये मार्केट काफी नया था और प्रोडक्ट डेवलेप्मेंट में काफी मुश्किलें आईं। ऐसे वक्त में फाउंडर्स की लगन और टीम की मेहनत ने मदद की। कुछ साल तक सेल्फ फंडिंग के बाद Sequretek ने 2017 में पहली स्ट्रक्चर्ड फंड रेजिंग की। इसमें GVFL और यूनिकॉर्न वेंचर्स जैसे इन्वेस्टर्स  स्टार्टअप के साथ जुड़े। अब तक कंपनी करीब 70 लाख डॉलर की फंडिंग जुटा चुकी है।


फिलहाल Sequretek बैंक्स, इंश्योरेंस और फाइनेंसियल सर्विसेज के साथ-साथ फार्मा, रिटेल और मैन्यूफैक्चरिंग जैसे सेक्टर्स की 140 कंपनियों के साथ काम कर रही है। भारत के अलावा इस स्टार्टअप के क्लाइंट्स US, UK , मिडिल ईस्ट, अफ्रीका और साउथ ईस्ट एशिया में भी हैं। Sequretek का लक्ष्य है कि सर्विसेस इंडस्ट्री की ही तरह, साइबर सिक्योरिटी प्रोडक्ट इंडस्ट्री में भी भारत का नाम रोशन हो।


सोशल मीडिया अपडेट्स के लिए हमें Facebook (https://www.facebook.com/moneycontrolhindi/) और Twitter (https://twitter.com/MoneycontrolH) पर फॉलो करें।