Moneycontrol » समाचार » बाज़ार खबरें

सरोगेसी की शर्तें होगी आसान, अब स्वेच्छा से महिला बन सकती है सरोगेट मदर

अब कोई भी महिला सरोगेट मदर बन सकती है। कैबिनेट ने सरोगेसी की शर्तें आसान करने का फैसला लिया है।
अपडेटेड Feb 27, 2020 पर 14:45  |  स्रोत : CNBC-Awaaz

अब कोई भी महिला सरोगेट मदर बन सकती है। कैबिनेट ने सरोगेसी की शर्तें आसान करने का फैसला लिया है। साथ ही कैबिनेट ने National Technical Textiles Mission को मंजूरी दी है।


स्वेच्छा से महिला सरोगेट मदर बन सकती है। कैबिनेट ने Surrogacy (Regulation) Bill, 2020 में बदलाव को मंजूरी दे दी है जिसके बाद अब सरोगेसी के लिए करीबी रिश्तेदार होना जरूरी नहीं है। पहले सिर्फ करीबी रिश्तेदारी के लिए ही रियायत थी।
 
नए Surrogacy (Regulation) Bill, 2020 के तहत कभी भी दंपत्ति सरोगेसी का फैसला ले सकती है। पहले शादी के 5 साल बाद ही सरोगेसी की इजाजत होती थी। सरोगेसी के रेगुलेशन के लिए नेशनल सरोगेसी बोर्ड होगा।  वहीं National Technical Textiles Mission को मंजूरी मिली है। सरकार 1,480 करोड़ रुपये खर्च करेगी। कारोबारी साल 2020-21 से 2023-24 तक मिशन चलेगा। सरकार का फोकस रिसर्च, मार्केटिंग और एक्सपोर्ट पर है। एक्सपोर्ट 14,000 करोड़ रुपये से बढ़कर 20,000 करोड़ रुपये का लक्ष्य तय किया है।
 


Technical Textiles का इस्तेमाल


- बुलेट प्रूफ जैकेट
- फायर प्रूफ जैकेट  
- एग्रीकल्चर, रोड
- रेलवे ट्रैक, हेल्थ सेक्टर 


सोशल मीडिया अपडेट्स के लिए हमें Facebook (https://www.facebook.com/moneycontrolhindi/) और Twitter (https://twitter.com/MoneycontrolH) पर फॉलो करें।