Moneycontrol » समाचार » बाज़ार खबरें

पेट्रोल-डीजल की लगातार बढ़ती कीमतें आप की जेब पर पडेंगी भारी, फल-सब्जियों के दाम में उछाल

दिल्ली में डीजल की कीमतें ऑल टाइम हाई से 7 पैसे कम हैं। वहीं मुंबई में ये रिकॉर्ड लेवल को पार कर गई हैं।
अपडेटेड Jan 22, 2021 पर 10:13  |  स्रोत : CNBC-Awaaz

पेट्रोल, डीजल की लगातार बढ़ती कीमतों से आम कंज्यूमर की मुश्किलें और बढ़ने वाली हैं। खासकर डीजल के दामों में बढ़ोतरी का असर अब आपके किचन पर पड़ने वाला है। डीजल की कीमतें देश के कई राज्यों में रिकॉर्ड लेवल पर पहुंच गई हैं और 5 महीने में दूसरी बार ट्रांसपोर्टर्स ने भाड़े में बढ़ोतरी की तैयारी कर ली है। अब इसका बोझ कंज्यूमर पर पड़ने वाला है।


दिल्ली में डीजल की कीमतें ऑल टाइम हाई से 7 पैसे कम हैं। वहीं मुंबई में ये रिकॉर्ड लेवल को पार कर गई हैं। आलम ये है कि थोड़े ठहराव के बाद तेल कंपनियों ने डीजल के दामों में पिछले ढाई महीने में फिर से करीब 5 रुपये प्रति लीटर की बढ़ोतरी कर दी है। पहले से ही भारी कीमतों से परेशान ट्रांसपोर्टर्स अब ट्रांसपोर्टेशन कॉस्ट में 10-15 फीसदी की बढ़ोतरी करने जा रहे हैं। पिछले 6 महीने में ये दूसरी बढ़ोतरी होगी। ट्रांसपोर्टर्स की मानें तो कीमतें इतनी बढ़ गई हैं कि कंज्यूमर पर बोझ डालने के अलावा कोई दूसरा विकल्प नहीं है।


दिसंबर में ट्रांसपोर्ट डिमांड पिछले साल के मुकाबले 10 फीसदी से ज्यादा रही। धीरे-धीरे डिमांड में तेजी आ रही है लेकिन डीजल की कीमतों ने मुश्किलें बढ़ा दी हैं। इससे पहले त्योहारों के समय माल ढुलाई भाड़े में बढ़ोतरी हुई थी अब फिर से वैसे ही हालात बन रहे हैं।


दिल्ली जैसे शहर में तो डीजल की कीमतों के अलावा किसान आंदोलन ने भी मुश्किलें बढ़ा दी हैं। सामानों की सप्लाई कम हो गई है। फल-सब्जियों के दाम अभी भी ऊंचे बने हुए हैं। सवाल ये है कि आखिर केंद्र और राज्य सरकारें पेट्रोल-डीजल पर टैक्स कम करके कंज्यूमर को राहत कब देंगी।




सोशल मीडिया अपडेट्स के लिए हमें Facebook (https://www.facebook.com/moneycontrolhindi/) और Twitter (https://twitter.com/MoneycontrolH) पर फॉलो करें।