Moneycontrol » समाचार » बाज़ार खबरें

पीएसयू बैंकों का भविष्य चिंताजनक: लियो पुरी

प्रकाशित Thu, 05, 2018 पर 10:51  |  स्रोत : CNBC-Awaaz

बाजार में एफआईआई के बाद डीआईआई यानि घरेलू संस्थागत निवेशक सबसे बड़े निवेशक माने जाते हैं। एफआईआई पिछले कुछ वक्त से लगातार पैसे निकाल रहे हैं, जबकि डीआईआई का निवेश लगातार बना हुआ है हालांकि ये भी अब कुछ सतर्क हो गए हैं। ऐसे में इस बाजार पर उनकी राय बहुत महत्वपूर्ण हो जाती है। इसी मुद्दे पर बात हो रही है यूटीआई एएमसी के एमडी लियो पुरी से।


इस बात-चीत में लियो पुरी ने कहा कि ग्लोबल बाजारों में भरोसा घटा है जबकि भारत पिछले 4-5 साल में मजबूत हुआ है। बैंक, मेटल, एनर्जी से लोग पैसे निकाल रहे हैं। आगे आईटी और फार्मा में निवेश के मौके आएंगे। इस समय पोर्टफोलियो रीबैलेंसिंग जरूरी है।


मिडकैप सेगमेंट के भविष्य पर बात करते हुए लियो पुरी ने कहा कि मिडकैप में लंबी अवधि का निवेश ठीक है। मिडकैप शेयर सबके लिए नहीं हैं। आगे मिडकैप में उठापटक बढ़ेगी।


सरकारी बैंकों पर बात करते हुए लियो पुरी ने कहा कि सरकारी बैंकों में काफी दिक्कतें हैं। पीएसयू बैंकों का भविष्य चिंताजनक है। बैंकों से सरकार को बाहर निकलना चाहिए। पीएसयू बैंकों को आपस में विलय जरूरी है। सरकार बैंकों को लेकर काफी काम कर भी रही है।