Moneycontrol » समाचार » बाज़ार खबरें

बिहार में चमकी बुखार का कहर, अब तक 48 बच्चों की मौत

बिहार में चमकी बुखार यानी एक्यूट इंसेफलाइटिस सिंड्रॉम (AES) का कहर बढ़ता जा रहा है।
अपडेटेड Jun 12, 2019 पर 17:33  |  स्रोत : CNBC-Awaaz

बिहार में चमकी बुखार यानी एक्यूट इंसेफलाइटिस सिंड्रॉम (AES) का कहर बढ़ता जा रहा है। एक हफ्ते में अब तक 48 बच्चों की मौत हो गई है। पिछले 24 घंटे में 10 और बच्चों ने दम तोड़ दिया। वहीं 23 नए बच्चों को भर्ती कराया गया है। मरने वाले 10 बच्चों में से 7 की मौत SKMCH में जबकि तीन की मौत केजरीवाल अस्पताल में हुई। 


दरअसल चमकी बुखार भी इंसेफ्लाइटिस ही है। वायरस का संक्रमण होने पर मरीज को तेज बुखार, सिरदर्द रहने लगता है। कभी-कभी कन्फ्यूजन और कोमा से पहले के हालात भी आ जाते हैं।


चमकी से बचाव के लिए कुछ टीके हैं। लेकिन वायरस को फैलने से रोकना सबसे असरदार तरीका है। इसके लिए एंटीवायरल दवाएं, स्टैरॉइड इंजेक्शन कारगर होता है। बुखार होते ही पूरी सावधानी बरतना चाहिए। लिक्विड ज्यादा से ज्यादा लेना। इससे बचने के लिए साफ सफाई का विशेष ख्याल रखें और साफ हाथों से साफ-सुथरा भोजन करें।