Moneycontrol » समाचार » बाज़ार खबरें

1 जुलाई से बदल गए ये नियम, जानिए बदले नियमों का आप पर क्या होगा असर

आज 1 जुलाई से ATM, मिनिमम बैलेंस, अटल पेंशन योजना, जैसे कई नियमों में बदलाव हो गया है
अपडेटेड Jul 01, 2020 पर 14:03  |  स्रोत : Moneycontrol.com

कोरोनावायरस (Coronavirus) संक्रमण फैलने के बाद जब मार्च में लॉकडाउन लागू हुआ था तो फाइनेंस मिनिस्टर निर्मला सीतारमण ने ऐलान किया था कि अगले तीन महीने तक किसी भी बैंक के ATM से पैसा निकालने पर कोई चार्ज नहीं लगेगा। ये तीन महीने का वक्त 30 जून को खत्म हो गया और आज से पुराना नियम लागू हो गया। 1 जुलाई से पहले की तरफ एक सीमा से ज्यादा बार अगर आप दूसरे बैंक के ATM से पैसा निकालते हैं तो आपसे चार्ज लिया जाएगा। इस मामले में SBI ने ATM से पैसा निकालने का नियम जारी किया है। स्टेट बैंक की वेबसाइट के मुताबिक, मेट्रो शहरों में ATM से 8 बार कैश निकालने की अनुमति है। इसमें आप 5 बार SBI के बैंक अकाउंट और 3 बार दूसरे बैंक के ATM से पैसे निकाल सकते हैं। अगर आप एक महीने में 8 बार से ज्यादा कैश निकालते हैं तो हर ट्रांजैक्शन  पर 20 रुपए और GST चुकाना पड़ सकता है।


आज से म्यूचुअल फंड पर लगेगा स्टांप ड्यूटी


अगर आप 1 जुलाई से कोई म्यूचुअल फंड खरीदते हैं तो आपको उसपर स्टांप ड्यूटी देनी होगी। अगर SIP (सिस्टमेटिक इनवेस्टमेंट प्लान) और STP (सिस्टमेटिक ट्रांसफर प्लान) खरीदते हैं तो भी आपको  स्टांप ड्यूटी चुकानी पड़ेगी। यह ड्यूटी हर तरह के म्यूचुअल फंड पर देनी होगी-फिर चाहे आप डेट म्यूचुअल फंड खरीदे या इक्विटी म्यूचुअल फंड। इस स्टांप ड्यूटी का सबसे ज्यादा असर डेट फंड्स पर देखने को मिलेगा जो आम तौर पर छोटी अवधि के लिए होती है।


इस नियम के मुताबिक, म्यूचुअल फंड खरीदने पर कुल इनवेस्टमेंट का 0.005 फीसदी रकम आपको स्टांप ड्यूटी के तौर पर चुकाना होगा। अगर आप म्यूचुअल फंड यूनिट का ट्रांसफर करते हैं तो भी आपको स्टांप ड्यूटी चुकाना होगा। इसमें आपको तीन गुना ज्यादा यानी 0.015 फीसदी स्टांप ड्यूटी देना होगा। स्टांप ड्यूटी को इस तरह डिजाइन किया गया है कि 90 दिन या इससे कम समय तक होल्ड करने वाले यूनिट पर सबसे ज्यादा असर होगा।



बैंक अकाउंट में मिनिमम बैलेंस जरूरी


लॉकडाउन शुरू होने के बाद फाइनेंस मिनिस्टर निर्मला सीतारमण ने खातों में मिनिमम बैलेंस ना रखने की छूट दी थी। लेकिन 1 जुलाई से अब यह छूट खत्म हो गई है। अब खातों में मिनिमम बैलेंस ना रखने पर पेनाल्टी लग सकती है।



ऑनलाइन रजिस्ट्रेशन की सुविधा


MSMEs का ऑनलाइन रजिस्ट्रेशन आज से कराया जा सकता है। सरकार ने बताया था कि यह रजिस्ट्रेशन MSMEs की तरफ से मुहैया की गई जानकारी के आधार पर ही होगा। इसके लिए किसी तरह का कोई डॉक्यूमेंट्स देने की जरूरत नहीं होगी।


PF का पैसा निकालने का नियम बदला


कोरोनावायरस लॉकडाउन के बीच लोगों को कैश की दिक्कत ना हो इसलिए फाइनेंस मिनिस्टर  निर्मला सीतारमण ने PF का पैसा निकालने की अनुमति दी थी। इसके लिए आवेदन करने की आखिरी तारीख 30 जून थी। फाइनेंस मिनिस्ट्री ने कहा था कि कुल जमा राशि का 75 फीसदी या बेसिक सैलरी और महंगाई भत्ते का तीन गुना, दोनों में जो कम हो वह निकाला जा सकता था। लेकिन  1 जुलाई से इसकी सुविधा बंद हो गई है।


अटल पेंशन योजना में बदलाव


आज यानी 1 जुलाई से अटल पेंशन योजना के नियमों में भी बदलाव हो रहा है। अगर आपके पास भी अटल पेंशन योजना है तो जान लीजिए कि आज से आपके लिए क्या बदलने वाला है। नए नियम के मुताबिक, 1 जुलाई से पेंशन योजना का प्रीमियम आपके खाते से अपने आप कटने लगेगा।


सोशल मीडिया अपडेट्स के लिए हमें Facebook (https://www.facebook.com/moneycontrolhindi/) और Twitter (https://twitter.com/MoneycontrolH) पर फॉलो करें।