Moneycontrol » समाचार » बाज़ार खबरें

ट्रंप ने चीनी प्रोडक्ट के इम्पोर्ट पर फैसला टाला, बाजार में आई उछाल

अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने चीनी प्रोडक्ट्स पर 1 सितंबर से लगने वाले फैसले को टाल दिया है
अपडेटेड Aug 14, 2019 पर 17:37  |  स्रोत : Moneycontrol.com

अमेरिकी राष्ट्रपति डॉनल्ड ट्रंप कब बंदर घुड़की देते हैं और कब उस पर पलट जाते हैं। इसकी जानकारी शायद ट्रंप को भी नहीं होगी। लेकिन ट्रंप की एक धमकी या फैसले से बाजार बंजर या गुलजार जरूर हो जाता है।


दरअसल डॉनल्ड ट्रंप ने टीन के साथ हुए ट्रेड वॉर पर चीनी चीन के 300 अरब डॉलर के अतिरिक्त चीइनीज इम्पोर्ट 10 फीसदी टैरिफ बढ़ाने के एलान किया था। इसे लागू करने की तारीख 1 सितंबर भी घोषित कर दी थी। इसके बाद ट्रंप ने कुछ दिन पहले चीन को धमकी दी थी कि अगर चीन ने डील के साथ कोई समझौता नहीं किया तो यह टैरिफ बढ़ा दिया जाएगा।


लेकिन अब खबर है कि अमेरिकी राष्ट्रपति डॉनल्ड ट्रंप ने चीन से आने वाले मोबाइल, लैपटॉप समेत दूसरे कंज्यूमर सामानों पर 10 फीसदी टैरिफ 1 सितंबर के बजाय 15 दिसंबर से लागू होगा। ट्रंप के इस फैसले से बाजार मे हरियाली आ गई। सबसे ज्यादा एपल के शेयरों में उछाल देखा गया। एपल के शेयर में 4.2 फीसदी की तेजी आई है।


अमेरिका के इस फैसले से 300 अरब डॉलर के चाइनीज इम्पोर्ट में से तकरीबन आधे इम्पोर्ट को फायदा होने की उम्मीद जताई जा रही है। ट्रंप ने क्रिसमस की शॉपिंग का हवाला देते हुए कहा है कि हम नहीं चाहते कि क्रिसमस के दौरान प्रोडक्ट्स महंगे हों साथ ही कंपनियों कंपनियों की बिक्री में गिरावट भी न हो।


चीन के मिनिस्ट्री ऑफ कॉमर्स के वाइस प्रीमियर लियू ने अमेरिकी अधिकारियों के साथ फोन पर बात की है। मंत्रालय ने कहा है कि लियू अमेरिकी ट्रेड रेप्रिजेन्टटिव रॉबर्ट लाइटहाइजर और ट्रेजरी सेक्रेट्री Steven Mnuchin के साथ अगले दो हफ्ते में फिर से फोन पर बात करने लिए सहमति व्यक्त की है। चीन के इस बयान के बाद अमेरिका ने टैरिफ टालने के फैसले का एलान किया है। ट्रंप ने कहा कि दोनों पक्ष सितंबर में मुलाकात कर सकते हैं। अमेरिका का चीन के साथ ट्रेड वॉर पिछले साल से चल रहा है। इससे चीन को नुकसान हो रहा है। 


सोशल मीडिया अपडेट्स के लिए हमें Facebook (https://www.facebook.com/moneycontrolhindi/) और Twitter (https://twitter.com/MoneycontrolH) पर फॉलो करें।