Moneycontrol » समाचार » बाज़ार खबरें

जानिए क्यों उदय कोटक ने कोरोना लॉकडाउन को कहा अभिमन्यु का चक्रव्यूह

उदय कोटक ने भारत की लॉकडाउन स्थिति को अभिमन्यु के चक्रव्यूह से जोड़ते हुए कहा कि लॉकडाउन से समझ-बूझ के साथ धीरे-धीरे बाहर आना होगा।
अपडेटेड May 14, 2020 पर 19:25  |  स्रोत : Moneycontrol.com

उदय कोटक ने भारत की लॉकडाउन स्थिति को अभिमन्यु के चक्रव्यूह से जोड़ा है। गौरतलब है कि महाभारत के अभिमन्यु एक अच्छे योद्धा थे और चक्रव्यूह को तोड़ना भी जानते थे लेकिन उन्हें यह नहीं पता था कि चक्रव्यूह से कैसे बाहर आया जाए। इस उदाहरण को सामने रखते हुए उदय कोटक ने कहा कि देशभर में लॉकडाउन लागू करना तो आसान था किंतु इससे बाहर आना एक बहुत ही जटिल प्रक्रिया है।


बिजनेस टूडे में प्रकाशित खबर के मुताबिक कोटक महिंद्रा के सीईओ उदय कोटक ने आगे कहा कि भारत को इस लॉकडाउन से  समझ-बूझ के साथ धीरे-धीरे बाहर आना होगा।


प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी द्वारा घोषित और कल वित्त मंत्री निर्मला सीतारमन द्वारा उस पर दिए गए विवरण पर बात करते हुए उदय कोटक ने कहा कि पहले मैं इस पैकेज के ब्रेकअप को देखना चाहूंगा लेकिन मुझें इसमें कोई संदेह नहीं है कि इसका एक बड़ा हिस्सा समाज के निचले तबके और एमएसएमई सेक्टर को जायेगा।


उन्होंने आगे कहा कि लॉकडाउन से बाहर आना एक बहुत बड़ी चुनौती है क्योंकि इसके बाद संक्रमण बढ़ने का खतरा और बढ़ जायेगा। उन्होंने यह भी कहा कि इस लॉकडाउन की इकोनॉमी को बहुत बढ़ी कीमत चुकानी होगी।


उन्होंने आगे कहा कि कोरोना वायरस कि समस्या लंबे समय तक टिकने वाली है। बड़े स्तर पर सामूहिक प्रयासों के बावजूद इसकी कोई वैक्सीन आने में कम से कम 10 से 15 महीने लगेंगे।


कोरोना वायरस के बाद की स्थिति में बैंक की कारोबारी रणनीति पर बात करते हुए उदय कोटक ने कहा कि कोटक बैंक सही सेक्टर को लोन देने पर जोर देगा। बैंक मजबूत डिपॉजिट फ्रेन्चाइजी बनाने पर फोकस कर रहा है। उनका मानना है कि टेलिकॉम और एयरलाइंस की तरह ही हमें आगे बैंकिंग सेक्टर में कंसोलिडेशन देखने को मिलेगा।


सोशल मीडिया अपडेट्स के लिए हमें Facebook (https://www.facebook.com/moneycontrolhindi/) और Twitter (https://twitter.com/MoneycontrolH) पर फॉलो करें।