Moneycontrol » समाचार » बाज़ार खबरें

उद्धव ठाकरे ने विधानपरिषद सदस्य के रूप में ली शपथ, बने रहेंगे मुख्यमंत्री

आज दोपहर 1 बजे शपथ लेने के पश्चात उन्हें विधानपरिषद के सदस्य होने का प्रमाणपत्र भी प्रदान कर दिया गया है। इस अवसर पर उनकी पत्नी रश्मि ठाकरे और उनके पुत्र एवं महाराष्ट्र सरकार में पर्यावरण मंत्री आदित्य ठाकरे भी उपस्थित रहे।
अपडेटेड May 19, 2020 पर 10:30  |  स्रोत : Moneycontrol.com

महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे ने आज करीब 1 बजे के दरम्यान विधानपरिषद सदस्य के रूप में शपथ ग्रहण की और इसके साथ ही उनके मुख्यमंत्री पद पर कायम रहने की संवैधानिक अड़चन समाप्त हो गई क्योंकि समय से पूर्व ही उन्होंने विधायक के रूप में शपथ ग्रहण करके ऐसी सारी अटकलों पर विराम लगा दिया है।


महाराष्ट्र टाइम्स में छपी खबर के मुताबिक आज दोपहर 1 बजे शपथ लेने के पश्चात उन्हें विधानपरिषद के सदस्य होने का प्रमाणपत्र भी प्रदान कर दिया गया है। इस अवसर पर उनकी पत्नी रश्मि ठाकरे और उनके पुत्र एवं महाराष्ट्र सरकार में पर्यावरण मंत्री आदित्य ठाकरे भी उपस्थित रहे। इस मौके पर किसी भी प्रकार का ताम-झाम न करके सादगीपूर्ण तरीके शपथविधि कार्यक्रम को संपन्न किया गया।


उद्धव ठाकरे ने 27 नवंबर को मुख्यमंत्री पद की शपथ ली थी। जिसके बाद 6 महीनों के अंदर उन्हें महाराष्ट्र के दोनों में से किसी भी एक सदन का सदस्य होना अनिवार्य था। उनकी ये अवधि 27 मई को समाप्त हो रही थी। इसके पहले ही उन्होंने विधानपरिषद की सदस्यता हासिल कर ली जिसकी वजह से उनके मुख्यमंत्री पद पर लटकता संकट दूर हो गया है।


कोरोना संकट के कारण विधान परिषद के चुनाव अनिश्चितकाल के लिए स्थगित कर दिए गए थे। इसलिए उद्धव ठाकरे मुख्यमंत्री बनें रहेंगे या नहीं, इस पर बहस चल रही थी। हालांकि महाराष्ट्र विकास अघडी ने चुनाव आयोग से विधान परिषद चुनाव कराने का अनुरोध किया था। राज्यपाल भगत सिंह कोश्यारी ने भी चुनाव आयोग को विधानसभा चुनाव कराने का निर्देश दिया था जिसके बाद आयोग ने चुनाव कार्यक्रम की घोषणा की थी।


सोशल मीडिया अपडेट्स के लिए हमें Facebook (https://www.facebook.com/moneycontrolhindi/) और Twitter (https://twitter.com/MoneycontrolH) पर फॉलो करें।