Moneycontrol » समाचार » बाज़ार खबरें

UGC की चेतावनी, POK के संस्थानों में नहीं लें एडमिशन

प्रकाशित Thu, 16, 2019 पर 15:05  |  स्रोत : Moneycontrol.com

यूनिवर्सिटी ग्रांट्स कमीशन यानी विश्वविद्यालय अनुदान आयोग (यूजीसी) ने छात्रों को चेतावनी दी है कि वो पाक अधिकृत जम्मू कश्मीर (पीओके) संस्थानों में एडमिशन न लें। यह भारत का अभिन्न अंग है और पाकिस्तान के कब्जे में है। यूजीसी के सचिव रजनीश जैन ने कहा पाकिस्तान अधिकृत जम्मू कश्मीर भारत का अभिन्न अंग है। पीओके में शैक्षणिक संस्थान, विश्वविद्यालय, मेडिकल कॉलेज, तकनीकी संस्थान को ना तो भारत सरकार ने स्थापित किया है और ना ही इन्हें यूजीसी, एआईसीटीई और इंडियन मेडिकल काउंसिल जैसी वैधानिक संस्थाओं से मान्यता प्राप्त हैं।


 
 उन्होंने आगे कहा कि छात्रों को इसलिए वहां एडमिशन लेने से मना किया जा रहा है क्योंकि आजाद जम्मू कश्मीर, गिलगिट बाल्टिस्तान, जिन्हें भारत द्वारा अभी मान्यता नहीं दी गई है, इसके साथ ही पाकिस्तान के अवैध कब्जे वाले किसी क्षेत्र में कॉलेज, विश्विविद्यालय या तकनीकी संस्थानों में प्रवेश न लें।




वहीं हुर्रियत कॉन्फ्रेन्स के चेचरमैन मीरवइज उमर फारुक ने यूजूसी के निर्देशों को शिक्षा का राजनीतिकरण बताया और कहा कि दुनिया में कहीं भी शिक्षा लेने के लिए छात्रों के मौलिक अधिकार का उल्लंघन है।
जबकि हर साल कश्मीर घाटी से बड़ी संख्या में छात्र पाकिस्तानी कॉलेजों में दाखिला लेते हैं। खासकर मेडिकल कोर्स क लिए। बहुत कम छात्र हैं जो हायर एजूकेशन (उच्च शिक्षा) के लिए पाकिस्तान का चयन करते हों। पाकिस्तानी कॉलेजों में कश्मीर के छात्रों के लिए एक विशेष कोटा है।



वहीं हुर्रियत के चेयरमैन मीरवाइज ने सरकार से आग्रह किया है कि सरकार और यूजीसी अपने आदेश को वापस ले। कश्मीरी छात्रों के कैरियर के साथ राजनीति न खेलें। उन्होंने कहा कि दुनिया में अन्य छात्रों की तरह उन्हें भी यह अधिकर है कि वो कही भी स्टडी करें। साथ ही ये भी कहा कि कश्मीरी छात्रों को पीओके में एडमिशन लेने से रोकना जम्मू और कश्मीर का हिस्सा है। यह राज्य का विषय है। एलओसी के निलंबन के बाद अर्थव्यवस्था और व्यापारियों को नुकसान हुआ है।




आपको बता दें कि, पाकिस्तान अधिकृत कश्मीर भारत के राज्य जम्मू कश्मीर का वह इलाका है जिसपर 1947 में पाक ने कब्जा कर लिया था। इसे दो हिस्सों में विभाजित किया गया था जिन्हें आजाद जम्मू कश्मीर और गिलगिट बाल्टिस्तान कहा जाता है।