Moneycontrol » समाचार » बाज़ार खबरें

दुनिया भर में अनजान वायरस का कोहराम, कोरोना से बचने के लिए क्या करें!

coronavirus खतरनाक वायरस का एक बड़ा समूह है। पहले दो बीमारियां इसी ग्रुप से हुई थीं।
अपडेटेड Jan 23, 2020 पर 15:03  |  स्रोत : CNBC-Awaaz

कोरोना वायरस (Coronavirus), एक ऐसा अनजान वायरस जिसने चीन, जापान, अमेरिका, ऑस्ट्रेलिया जैसे देशों में हेल्थ अथॉरिटी की नींद उड़ा रखी है। WHO ने इस पर इमरजेंसी बैठक बुलाई। भारत सरकार ने भी चीन, हॉन्गकॉन्ग के लिए ट्रैवल एडवाइजरी जारी की है। इन देशों से आने वाले विमानों में ये एनाउंसमेंट करवाई जा रही है कि किसी को सर्दी, बुखार की शिकायत हो तो वो एयरपोर्ट पर इसकी सूचना दें ताकि उनकी जांच हो सके। यात्रियों के लिए हेल्थ एडवाइजरी भी जारी की गई है। दिल्ली, मुंबई समेत देश के 7 एयरपोर्ट्स पर चीन, हॉन्गकॉन्ग से आने वाले यात्रियों की मॉनिटरिंग की जा रही है। खास नजर चीन के वूहान शहर पर है क्योंकि वहीं से इसकी शुरूआत हुई है और सबसे ज्यादा मरीज भी वहीं मिले हैं। इस पर चर्चा के लिए हमारे साथ हैं जसलोक अस्पताल में संक्रामक रोगों के विशेषज्ञ डॉक्टर ओम श्रीवास्तव, फिजिशियन डॉक्टर मोहसिन वली और ब्लू स्टार एयर ट्रैवल के डायरेक्टर भवेश ओझा।


कोरोना का कोहराम
 
- चीन में अनजान वायरस से हड़कंप
 - चीन में 6 की जान गई, 278 मरीज
 - जापान, कोरिया, थाइलैंड में भी मरीज
 - अमेरिका में एक मरीज की पहचान
 - ऑस्ट्रेलिया में एक संदिग्ध मामला
 - वायरस - novel coronavirus (2019-nCoV)
 - चीन के हुबेई प्रांत के वूहान से शुरुआत
 - WHO ने बुलाई इमरजेंसी बैठक


एयरपोर्ट पर स्क्रीनिंग


- दुनिया भर में कोरोना वायरस की स्क्रीनिंग
- चीन से आने वालों की थर्मल स्क्रीनिंग
- भारत के 7 हवाई अड्डों पर भी स्क्रीनिंग
- दिल्ली, मुंबई, कोलकाता, चेन्नई, बेंगलुरु
- हैदराबाद और कोचीन में भी स्क्रीनिंग
- स्वास्थ्य मंत्रालय की ट्रैवल एडवाइजरी



लक्षण और इलाज
 
- अलग-अलग मरीज के लक्षण अलग
 - बुखार, खांसी, सर्दी, सांस में दिक्कत
 - छोटी-छोटी सांस लेना, निमोनिया
 - severe acute respiratory syndrome
 - किडनी फेल होना और अकाल मृत्यु
 - आदमी से आदमी में फैलता है वायरस
 - अस्पताल के स्टाफ को भी खतरा
 - वायरस लाइलाज, लक्षणों का इलाज
 - coronavirus की ठीक से पहचान नहीं हुई
 - वायरस का वैक्सीन बनने में वक्त लगेगा


क्या है Coronaviruses?
 
- खतरनाक वायरस का एक बड़ा समूह
 - पहले दो बीमारियां इसी ग्रुप से हुई थीं
 - Middle East Respiratory Syndrome (MERS)
 - Severe Acute Respiratory Syndrome (SARS)
 - coronavirus समूह में 2019-nCoV नया वायरस
 - कई जानवरों में coronavirus की मौजूदगी है


 


सोशल मीडिया अपडेट्स के लिए हमें Facebook (https://www.facebook.com/moneycontrolhindi/) और Twitter (https://twitter.com/MoneycontrolH) पर फॉलो करें.