Moneycontrol » समाचार » बाज़ार खबरें

चीन-अमेरिका में ट्रेड वॉर और भड़का, US ने 250 अरब डॉलर के चीन के उत्पादों पर ड्यूटी बढ़ाई

अमेरिका ने चीन के 250 अरब डॉलर के उत्पादों पर ड्यूटी 25 फीसदी से बढ़ाकर 30 फीसदी कर दी
अपडेटेड Aug 26, 2019 पर 15:04  |  स्रोत : CNBC-Awaaz

भले ही सरकार ने बड़े बूस्टर डोज का एलान किया है। लेकिन ग्लोबल मार्केट में खबर अच्छी नहीं है। चीन अमेरिका में ट्रेड वॉर और भड़क गया है। अमेरिका ने भी चीन के उत्पादों पर ड्यूटी बढ़ाने का एलान कर दिया। अमेरिका ने चीन के 250 अरब डॉलर के उत्पादों पर ड्यूटी 25 फीसदी से बढ़ाकर 30 फीसदी कर दी। इसके साथ ही 300 अरब डॉलर के उत्पादों पर ड्यूटी 10 फीसदी से बढ़ाकर 15 फीसदी कर दी। बढ़ी हुई ड्यूटी 1 अक्टूबर से लागू होगी।


ड्यूटी बढ़ाने के बाद कई ट्वीट कर ट्रंप ने फैसले को सही ठहराया। ट्रंप के मुताबिक चीन की गलत कारोबारी नीतियों को बदलने के लिए कदम उठाया गया है। पिछली सरकारों ने अमेरिकी टैक्सपेयर्स के पैसे से चीन को फायदा पहुंचाया। मैं ऐसा नहीं होने दूंगा। इससे पहले कल सुबह चीन ने 75 अरब डॉलर के अमेरिका के उत्पादों पर ड्यूटी लगाने के एलान किया था। इससे पहले फेडरल रिजर्व चेयरमैन जिरोम पॉवेल ने जैक्सन होल में अपने भाषण में बाजारों में जोश भरने की कोशिश की। जिरोम पॉवेल ने कहा कि इकोनॉमी में जान डालने के लिए वो हर कदम उठाएंगे। उनका ये बयान भी ट्रंप को पसंद नहीं आया। ट्रंप ने ट्वीट कर पूछा कि अमेरिका का बड़ा दुश्मन कौन है। चीनी राष्ट्रपति शी जिनपिंग या जिरोम पॉवेल। ट्रंप के जिनपिंग को दुश्मन कहने को ट्रेड वार्ता के लिए बेहद खराब माना जा रहा है।


ट्रंप यहीं नहीं रुके, उन्होंने बकायदा अमेरिकी कंपनियों से चीन छोड़ने का आदेश दिया। ट्रंप ने ट्वीट कर अमेरिकी कंपनियों को चीन छोड़कर अमेरिका में उत्पाद बनाने को कहा। ट्रंप ने ये भी कहा कि जरूरत पड़ी तो अमेरिका में इमरजेंसी घोषित कर देंगे। हालांकि अभी इसकी जरूरत नहीं दिख रही है।


सोशल मीडिया अपडेट्स के लिए हमें Facebook (https://www.facebook.com/moneycontrolhindi/) और Twitter (https://twitter.com/MoneycontrolH) पर फॉलो करें।