Moneycontrol » समाचार » बाज़ार खबरें

अमेरिका ने वापस लिया चीन पर करेंसी में हेरफेर करने का आरोप

अमेरिका ने चीन को अपनी मुद्रा से छेड़छाड़ करने वाला देश घोषित करने के फरमान को वापस ले लिया है।
अपडेटेड Jan 15, 2020 पर 09:04  |  स्रोत : Moneycontrol.com

अमेरिका ने चीन पर लगे करेंसी हेरफेर करने का आरोप हटा लिया है। अमेरिका ने चीन पर आरोप लगाया था कि वो अपने यात-निर्यात के चलते करेंसी से छेड़छाड़ करता है। US-चीन ट्रेड वॉर के बीच ऐसा आरोप वापस लेना काफी अहम माना जा रहा है। इससे यह संकेत जरूर मिल रहे हैं कि दोनों देशों के बीच तनाव काफी होता हुआ दिख रहा है। अमेरिका ने कहा है कि चीन ने यह स्वीकार कर लिया है कि वह अब भविष्य में अपने सामान का निर्यात करने के लिए अपनी करेंसी का अवमूल्यन (Devaluation) नहीं करेगा
अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने ट्रेड डील में हस्ताक्षर करने से पहले एक रिपोर्ट में कहा कि चीन अब अपनी करेंसी के साथ छेड़छाड़ करने वाला देश नहीं रहा। ट्रंप ने अगस्त में कहा था कि चीन बिजनेस में अपनी पैठ बनाने के लिए अपनी करेंसी के साथ छेड़छाड़ करता रहता है। 


चीन ने अगस्त महीने में अपनी करेंसी युआन को डॉलर के मुकाबले सात पर आने दिया था। इससे शेयर मार्केट में खलबली मच गई थी। इस पर ट्रंप ने नाराजगी भी जताई थी।
अमेरिका के फाइनेंस डिपार्टमेंट ने कहा कि चीन ने गर्मियों के दौरान अपनी करेंसी का डिवैल्युएशन करने की भरपूर कोशिश की थी। इससे चीन की करेंसी अपने 11 साल के निचले स्तर पर आ गई थी। हालांकि हाल के समय में यह डॉलर की तुलना में 6.93 तक मजबूत हुई है। इधर अमेरिका के फाइनेंस डिपार्टमेंट ने कहा है कि नए ट्रेड डील में करेंसी के मामले को सुलझाएगा।


बता दें कि अमेरिका और चीन के बीच पिछले 18 महीनों से इंटरनेशनल लेवल पर ट्रंड वॉर छिड़ी हुई है।


सोशल मीडिया अपडेट्स के लिए हमें Facebook (https://www.facebook.com/moneycontrolhindi/) और Twitter (https://twitter.com/MoneycontrolH) पर फॉलो करें।