Moneycontrol » समाचार » बाज़ार खबरें

वायु तूफान से सहमा गुजरात, अफसरों की छुट्टियां रद्द, अलर्ट पर सेना

प्रकाशित Wed, 12, 2019 पर 16:22  |  स्रोत : CNBC-Awaaz

अरब सागर से उठा वायु तूफान तेजी से गुजरात तट की ओर बढ़ रहा है। मौसम विभाग के मुताबिक फिलहाल इसकी आगे बढ़ने की रफ्तार 18 किलोमीटर प्रति घंटा है और कल तड़के ये गुजरात के सौराष्ट्र तट पर पहुंच जाएगा। मौसम विभाग ने अगले 24 घंटे के दौरान गुजरात के तटीय इलाकों में तेज आंधी और भारी बारिश की चेतावनी जारी की है। राज्य के 10 तटीय इलाकों में इसके भारी तबाही मचाने की आशंका है। पोरबंदर, वेरावल, अमरेली और जामनगर जैसे इलाके इस तूफान की जद में आ सकते हैं।


तूफान से निपटने के लिए 10 तटीय जिलों में 2 दिनों के लिए स्कूल बंद कर दिए गए हैं। अफसरों की छुट्टियां रद्द कर दी गई हैं और सेना को अलर्ट पर रखा गया है। तटीय इलाकों में NDRF की 35 टीम तैनात की गई हैं। द्वारका, सोमनाथ, पोरबंदर में लोगों के न जाने की अपील की जा रही है।


गुजरात के मुख्यमंत्री विजय रुपाणी ने आज तूफान की तैयारियों पर एक हाई लेवल मीटिंग की और कहा कि सरकार के साथ साथ NGO, सामाजिक संगठन, धार्मिक संगठन सभी आपदा से बचाव की तैयारी कर रहे हैं। तटीय इलाकों में कच्चे मकान में रहने वाले तमाम लोगों को शिफ्ट किया जा रहा है।


वायु जिन इलाकों पर असर डालेगा उनमें द्वारका और सोमनाथ जैसे बड़े तीर्थ स्थल भी हैं। गुजरात के मुख्यमंत्री विजय रूपाणी ने पर्यटकों को अगले दो दिनों तक इन इलाकों में नहीं आने की अपील की है।


वायु कल सुबह तट से टकराएगा। हवा की स्पीड 170 किलोमीटर हो सकती है। सौराष्ट्र, कच्छ समेत तटीय क्षेत्र में बहुत भारी बारिश संभव है। सिग्नल 2 स्तर की चेतावनी जारी की गई है। सिग्लन 2 चेतावनी का मतलब बहुत तेज तूफान होता है।


वायु तूफान एक गंभीर खतरा साबित हो सकता है। लिहाजा एहतियात के उपाय किए जा रहे हैं। अब तक 1.25 लाख लोगों को सुरक्षित ठिकानों पर पहुंचाया जा चुका है। कुल मिलाकर 3 लाख लोगों को शिफ्ट किया जाना है, इसके लिए ओखा से विशेष ट्रेनें भी चलाई जा रही हैं। 14 जून शुक्रवार की सुबह तक वेरावल, ओखा, पोरबंदर, भावनगर और भुज को जाने वाली ट्रेनें रद्द कर दी गई हैं। इसके अलावा भावनगर, पोरबंदर, दीव और कांडला जाने वाली उड़ानें भी रद्द कर दी गई हैं। कांडला पोर्ट को भी अस्थायी तौर पर बंद कर दिया गया है।


वायु तूफान को देखते हुए महाराष्ट्र में भी एहतियात के कदम उठाए जा रहे हैं। महाराष्ट्र सरकार ने कोंकण क्षेत्र के सभी समुद्री तटों को लोगों के लिए बंद करने का फैसला किया है। मुंबई और इसके उपनगरों के अलावा पालघर, रायगढ़, रत्नागिरी और सिंधुदुर्ग के सभी समुद्र तक आम जनता के लिए 2 दिन तक बंद रहेंगे। 12 और 13 जून को हाई टाइड का अलर्ट भी जारी किया गया है। आज दोपहर में मौसम विभाग ने बताया था कि वायु तूफान मुंबई से 290 किलोमीटर दक्षिण पश्चिम में था।


इस बीच प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा है कि गुजरात और दूसरे इलाकों में तूफान वायु के हालात पर केंद्र सरकार नजर बनाए हुए है। मैं राज्य सरकारों के संपर्क में हूं। NDRF और दूसरी एजेंसियां लगातार काम कर रही हैं। वायु से प्रभावित लोगों की सलामती के लिए दुआ करता हूं। सरकार और स्थानीय एजेंसियां ताजा जानकारी दे रही हैं। इनपर नजर रखें।


उधर राहुल गांधी ने भी अपील की है कि चक्रवात वायु गुजरात तट के करीब पहुंचने वाला है। मैं गुजरात के सभी कांग्रेस कार्यकर्ताओं से अपील करता हूं कि वे मदद के लिए तैयार रहे। मैं चक्रवात से प्रभावित होने वाले क्षेत्रों के सभी लोगों की सुरक्षा और कल्याण के लिए प्रार्थना करता हूं।