Moneycontrol » समाचार » बाज़ार खबरें

Weekly Dossier: अगले हफ्ते बाजार का कैसा रहेगा मूड, जानिए दिग्गजों की राय

अगले कुछ महीनों तक आईटी और फार्मा शेयर फ्लेवर में रहेंगे। इसके अलावा ऑटो शेयर भी सूची में रहेंगे.
अपडेटेड Apr 12, 2021 पर 09:56  |  स्रोत : Moneycontrol.com

कोरोना के बढ़ते मामलों ने बाजार सेंटीमेंट पर असर दिखाया और पिछले हफ्ते बाजार लाल निशान में बंद हुआ। हालांकि बाजार को यह नुकसान अच्छे ग्लोबल संकेतों और आरबीआई की नरम मौद्रिक नीति को बनाए रखने के संकेत के चलते सीमित रहा। अगले हफ्ते से मार्च तिमाही के नतीजे आने शुरू हो जाएंगे और कोरोना के बढ़ते मामलों के बावजूद बाजार की नजर कंपनियों के प्रदर्शन पर बनी रहेगी।
 
बाजार की आगे की चाल पर दिग्गजों की राय


Marcellus Investment Managers के रक्षित रंजन ने CNBC TV18 से बात करते हुए कहा कि देश में वैक्सीनेशन का कार्यक्रम काफी अच्छी तरीके से चल रहा है। जिसे देखते हुए ऐसा नहीं लगता है कि कंपनियों के कारोबार में कोई बड़ी गिरावट देखने को मिलेगी।  हम कंपनियों के अर्निंग को लेकर बहुत ज्यादा नहीं सोच रहे हैं। अगर बाजार में कोई अर्निंग के मोर्चे पर कोई उलटफेर होता भी है तो यह बड़ी और मजबूत कंपनियों के लिए छुपा हुआ वरदान साबित होगा। हमारी नजर कोरोना के दूसरी लहर में केंद्रित न होकर अगले 2-3 साल के संभावनाओं पर टिकी हुई है।


कई बार कोई संकट भविष्य के लिए छुपा वरदान साबित हो जाता है। कोरोना संकट की वजह से पहले से बुनियादी रूप से कमजोर रिटेलर दौड़ से बाहर हो सकते हैं और मजबूत और बेहतर कंपनियां बढ़ी बाजार हिस्सेदारी के साथ और मजबूत होकर उभर सकती हैं। इनमें अगले 3-4 साल में जोरदार ग्रोथ देखने को मिल सकती है। इसी बात को ध्यान में रखते हुए हम टाइटन में खरीदारी की सलाह दे रहे हैं।


Goldilocks Premium Research के गौतम शाह ने CNBC TV18 से हुई बातचीत में कहा कि निफ्टी एक दायरे में बंधा नजर आ रहा है। इस दायरे को तोड़ने के लिए निफ्टी को 14,880 का लेवल पार करना होगा। अगर ऐसा होता है तो फिर आगे निफ्टी में 15,500 का स्तर देखने को मिल सकता है। पिछले 7-8 कारोबारी सत्रों से शेयर बाजार में कोविड-19 बनाम कंपनियों के नतीजे, लिक्विडिटी और ग्लोबल मार्केट का मुद्दा हावी नजर आ रहा है। 


अब अगले कुछ महीनों तक आईटी और फार्मा शेयर फ्लेवर में रहेंगे। इसके अलावा ऑटो शेयर भी सूची में रहेंगे। इस सेक्टर के कुछ चुनिंदा स्टॉक नियर टर्म में 5-12 फीसदी तक की बढ़त दिखा सकते हैं।


Kotak Mutual Fund की हर्षा उपाध्याय ने CNBC-TV18 से बात करते हुए कहा कि बाजार इस समय कोविड की दूसरी लहर और इकोनॉमी पर उसके प्रभाव को लेकर भ्रमित नजर रहा है। उन्होंने आगे कहा कि चौथी तिमाही के नतीजे अच्छे रहने की उम्मीद है। अगले कुछ महीनों में हमें इकोनॉमी में और गति आती दिखेगी। इसके अलावा वैक्सीनेशन में तेजी के साथ ही मीडियम टर्म में बाजार में बढ़त देखने को मिलेगी।


Indiacharts.com के रोहित श्रीवास्तव ने CNBC -TV18 से बात करते हुए कहा कि मेटल शेयर में मजबूती तो हैं लेकिन अगले हफ्ते इसमें हमें कुछ करेक्शन देखने को मिल सकता है। लेकिन इसी अवधि  में हमें हेल्थ केयर और पब्लिक सेक्टर बैंकों में फ्रेश मोमेटंम देखने को मिल सकता है।


ICICI PRU AMC के आनंद शाह ने CNBC-TV18 से बात करते हुए कहा कि भारतीय इकोनॉमी में काफी तेज रिकवरी देखने को मिलेगी और कोरोना के दूसरी लहर का बहुत ज्यादा असर नहीं दिखेगा। कोरोना की पहली और दूसरी लहर के बीच का अंतर समझना होगा। पिछली लहर में हमें कोरोना के बारे में बहुत काम जानकारियां थी। इस बार हम काफी अच्छे तरीके से तैयार हैं। पिछली बार कोरोना की लहर पूरे भारत में थी। इस बार यह कुछ पॉकेट्स में नजर आ रहा है। इसलिए इस बार पिछली बार की तरह व्यापक लॉकडाउन की उम्मीद नहीं है। कोरोना की दूसरी लहर का इकोनॉमी पर उतना असर नहीं पड़ेगा जितना पहली लहर पर पड़ा था।


सोशल मीडिया अपडेट्स के लिए हमें Facebook (https://www.facebook.com/moneycontrolhindi/) और Twitter (https://twitter.com/MoneycontrolH) पर फॉलो करें.