Moneycontrol » समाचार » बाज़ार खबरें

स्वदेशी क्या है? यह साफ नहीं होने से CAPF कैंटीन में सामान की खरीद प्रक्रिया पर लगी रोक

गृह मंत्रालय ने कहा था कि CAPF कैंटीन में 1 जून से सिर्फ स्वदेशी उत्पाद ही बेचे जा सकेंगे
अपडेटेड May 21, 2020 पर 08:17  |  स्रोत : Moneycontrol.com

कोरोना वायरस की मार से देश में स्वदेशी सामनों को प्राथमिकता देने की बात कही गई है। केंद्रीय गृहमंत्रालय ने कहा था कि 1 जून से CAPF कैंटीन में 1 जून से सिर्फ स्वदेशी उत्पाद ही मिलेंगे। इस पर अभी तक गृहमंत्रालय से किसी प्रकार की गाइडलाइंस नहीं आने के कारण CAPF ने सामान खरीदने रोक लगा दी है। CAPF का मानना है कि जब तक गृह मंत्रालय से स्वदेशी सामानों पर स्थित साफ नहीं हो जाती, तब तक खरीदारी पर रोक जारी रहेगी।


केंद्रीय पुलिस कल्याण भंडारण निकाय (Central police welfare storage body)  ने हाल में आदेश जारी कर कहा है कि सभी  तरह के सामनों के आर्डर तत्काल प्रभाव से रोक दिए जाएं। यह रोक तब तक जारी रहेगी जब तक गृह मंत्रालय से स्वदेशी कंपनियों और उत्पादों को लेकर निर्देश नहीं मिल जाते हैं।


निकाय ने सभी अर्द्धसैनिक (Paramilitary) या केंद्रीय सशस्त्र पुलिस बल (Central Armed Police Forces-CAPFs) को सूचित किया है कि जो ऑर्डर दिये जा चुके हैं और जो आपूर्ति होने वाले हैं उन्हें स्वीकार किया जाएगा। फिलहाल पहले दिये गए जिन ऑर्डर को भेजने की प्रक्रिया शुरू नहीं हुई है, उन्हें रद्द किया जा रहा है।


मौजूदा समय में सेंट्रल पुलिस कैंटीन में 446 इंडियन और मल्टीनेशनल कंपनियां रजिस्टर्ड हैं। मीडिया रिपोर्ट्स में एक सीनियर अधिकारी के हवाले से कहा गया है कि स मामले में गृह मंत्रालय से जल्द ही आदेश मिलने की उम्मीद है। गृहमंत्रालय की फिलहाल कॉमर्स मिनिस्ट्री के साथ मीटिंग चल रही है। इसमें चर्चा हो रही है कि कैसे मेक इन इंडिया और अन्य पहल का लाभ कैंटीनों को मिल सके। ताकि देश में लोकल सामान को बढ़ावा दिया जा सके। 


CAPF की कैंटीन में सालाना करीब 2,800 करोड़ रुपये का बिजनेस होता है। इन कैंटीनों से सालाना लगभग 10 लाख कर्मचारियों के परिवारों सामान खरीदते हैं। CAPFs के तहत CRPF, BSF, CISF, ITBP, SSB, NSG and Assam Rifles (असम राइफल्स) कैंटीन शामिल है।


सोशल मीडिया अपडेट्स के लिए हमें Facebook (https://www.facebook.com/moneycontrolhindi/) और Twitter (https://twitter.com/MoneycontrolH) पर फॉलो करें