Moneycontrol » समाचार » बाज़ार खबरें

WHO ने विश्व को चेताया, कोई भी देश अपने यहां धार्मिक आयोजनों की न दे परमिशन

विश्व स्वास्थ्य संगठन (WHO) ने कहा है कि सभी देशों को अपने यहां कोरोना के संकट के काल के दौरान धार्मिक कार्यक्रमों को मंजूरी देने से बचना चाहिए।
अपडेटेड Jun 23, 2020 पर 21:10  |  स्रोत : Moneycontrol.com

विश्व स्वास्थ्य संगठन (WHO) ने कहा है कि सभी देशों को अपने यहां कोरोना के संकट के काल के दौरान धार्मिक कार्यक्रमों को मंजूरी देने से बचना चाहिए। ऐसा देखा गया है कि जिन देशों ने पहले कोरोना पर मात दे दी थी और बाद में लॉकडाउन हटाकर जनजीवन सामान्य कर दिया वहां पर फिर से कोरोना संक्रमण की लहर लौट आई है।


WHO ने कहा है कि कोरोना वायरस का सफलतापूर्ण तरीके से सामना करने वाले अनेक देशों में धार्मिक एवं सार्वजनिक आयोजनों को परमिशन देने से कोरोना मरीजों की संख्या में इजाफा हुआ है। कई स्थानों पर खुले आम तो कई स्थानों पर नाइट क्लब या बंद स्थान पर ये कार्यक्रम संपन्न होने की बात विश्व स्वास्थ्य  संगठन ने कही है।


कोरोना रोकने में सफल हुए दक्षिण कोरिया में कोरोना की दूसरी लहर वापस आई है। WHO ने दक्षिण कोरिया का उल्लेख करते हुए कहा कि अनेक देशों ने कोरोना संक्रमण को रोकने में सफलता पाई थी परंतु लोगों के वापस संपर्क में आने से संक्रमित मरीजों की संख्या में वृद्धि होती दिखाई दे रही है।


कोरोना वायरस को जहां मौका मिलेगा वो अपना प्रसार करेगा इसलिए WHO ने सभी देशों से आवाहन किया है कि वे अपने यहां कोरोना के संक्रमण को रोकने के लिए सभी संभव उपाय  करते रहें।


लोकसत्ता में छपी खबर के मुताबिक देश में कोरोना संक्रमितों की संख्या 425282 के ऊपर पहुंच गई है। पिछले 24 घंटों में देख में 14821 नये मरीज पाये गये हैं। पिछले 24 घंटों में 445 व्यक्ति कोरोना के वजह के काल का ग्रास बन गये। इसकी वजह से कुल मृतकों की संख्या 13699 हो गई है।


वहीं अब तक 237195 मरीज ठीक हुए हैं और पिछले 24 घंटों में 9440 लोगों को उपचार के बाद घर भेजा गया है। देश में कोरोना रोगियों के ठीक होने का प्रमाण 55.77 प्रतिशत तक पहुंच गया है। इस समय देश में करीब 174387 मरीजों पर उपचार चल रहा है।


सोशल मीडिया अपडेट्स के लिए हमें Facebook (https://www.facebook.com/moneycontrolhindi/) और Twitter (https://twitter.com/MoneycontrolH) पर फॉलो करें।