Moneycontrol » समाचार » बाज़ार खबरें

Yes Bank को इंडिया रेटिंग ने BBB दिया और आउटलुक स्टेबल बताया

India Ratings ने Yes Bank के लॉन्ग टर्म इश्युअर की रेटिंग BBB बनाकर रखी है।
अपडेटेड Aug 29, 2021 पर 09:12  |  स्रोत : Moneycontrol.com

Yes Bank का शेयर निवेशकों के लिए गले की हड्डी बन चुका है जिससे ना निकलने का मौका मिल रहा है ना ही रखने का कोई फायदा नजर आ रहा है। 2019 मार्च के बाद Yes Bank के शेयरों की जो हालत हुई है उसे निवेशकों का पोर्टफोलियो बेजार है। पिछले साल से ही Yes Bank से जुड़ी अच्छी-बुरी खबरें लगातार आ रही हैं। अब खबर इसके रेटिंग्स से जुड़ी आई है।


India Ratings ने Yes Bank के लॉन्ग टर्म इश्युअर की रेटिंग BBB बनाकर रखी है। इस रेटिंग का मतलब है कि बैंक के पास इतनी पूंजी है कि वह बैलेंस शीट पर आने वाले बोझ को कम कर सकता है। इसके साथ ही बैंक का डिपॉजिट प्रोफाइल भी सुधर रहा है। Yes Bank का आउटुलक स्टेबल है।


Yes Bank का कॉमन इक्विटी टीयर-1 (CET-1) फिस्कल ईयर 2022 की जून तिमाही में 11.6 फीसदी था। जबकि पिछले साल की इसी तिमाही में यह 13.6 फीसदी था। बैंक के पास 6400 करोड़ रुपए का डेफर्ड टैक्स एसेट्स है जिसे नेटवर्थ से घटाकर  CET-1 निकाला गया है।


रेटिंग एजेंसी ने कहा है, "प्रोविजनिंग के लिए जिन एसेट्स का इस्तेमाल किया गया था उसे बेच दिया गया है या हटा दिया गया है। एजेंसी का मानना है कि डेफर्ड टैक्स एसेट्स का इस्तेमाल किया जाएगा जिससे CET-1 में इजाफा होगा।"


Future Retail ने 3.4 अरब डॉलर की रिटेल डील में Amazon के खिलाफ दर्ज किया SC में नया मामला

Yes Bank को अपने सबसे बड़े शेयरहोल्डर SBI के साथ एसोसिएशन का भी फायदा मिलेगा। SBI को मार्च 2023 तक Yes Bank में मिनिमम 26 फीसदी हिस्सेदारी बनाकर रखना है। यह बैंक के रीस्ट्रक्चरिंग प्लान का हिस्सा है। देश के सबसे बड़े बैंक SBI का Yes Bank में फिलहाल 30 फीसदी हिस्सेदारी है।

फिस्कल ईयर 2022 में लोन रिकवरी से Yes Bank का प्रॉफिट बढ़ सकता है। फिस्कल ईयर 2021 में बैंक को 3400 करोड़ रुपए का लॉस हुआ था। इसकी वजह 12,000 करोड़ रुपए का स्लिपेज था। फिस्कल ईयर 2022 की पहली तिमाही में Yes Bank ने ग्रॉस NPA पर 67 फीसदी से ज्यादा प्रोविजन बरकरार रखा था। जबकि नॉन-परफॉर्मिंग इनवेस्टमेंट पर 90 फीसदी से ज्यादा प्रोविजनिंग की है।


शुक्रवार को Yes Bank के शेयर 1.37% ऊपर 11.10 रुपए पर बंद हुए थे।


सोशल मीडिया अपडेट्स के लिए हमें Facebook (https://www.facebook.com/moneycontrolhindi/) और Twitter (https://twitter.com/MoneycontrolH) पर फॉलो करें।