Moneycontrol » समाचार » बाज़ार खबरें

Yes Bank ने पूंजी जुटाने के लिए हायर किए 6 इन्वेस्टमेंट बैंक: रिपोर्ट

आरबीआई के नियमों का पालन को सुनिश्चित करने के लिए यस बैंक को इस साल 4000 करोड़ रुपये जुटानें होंगे।
अपडेटेड Jun 03, 2020 पर 17:39  |  स्रोत : Moneycontrol.com

द इकोनॉमिक टाइम्स की रिपोर्ट के मुताबिक प्राइवेट सेक्टर के बैंक यस बैंक ने शेयरों की बिक्री के जरिए पूंजी जुटाने के अपने पहले कदम के तहत 6 इन्वेस्टमेंट बैंकों को हायर किया है।


इस मुद्दे से जुड़े दो लोगों ने द इकोनॉमिक टाइम्स को बताया कि यस बैंक की योजना राइट्स इश्यू, क्यूआईपी  (QIP) या फॉलो ऑन पब्लिक ऑफर (FPO) के जरिए शेयरों को बेचकर 10,000 करोड़ रुपये जुटाने की है।


यस बैंक के सबसे बड़े शेयर धारक स्टेट बैंक ऑफ इंडिया की  इन्वेस्टमेंट बैंकिंग शाखा एसबीआई कैपिटल मार्केट्स इस प्रक्रिया में सबसे अग्रणी भूमिका निभा रही है। इसके अलावा यस बैंक के 2 और शेयर धारकों की इन्वेस्टमेंट शाखा कोटक महिंद्रा कैपिटल और एक्सिस सिक्योरिटी इस प्रक्रिया में शामिल हैं।


इन घरेलू इन्वेस्टमेंट बैंकों के अलावा एचएसबीसी, बैंक ऑफ अमेरिका और सिटी बैंक को भी निवेशकों की खोज करने के लिए हायर किया गया है। इस मुद्दे पर पूंछताछ करने के लिए किए गए ई-मेल का यस बैंक की तरफ से कोई जवाब नहीं मिला है।


इस मामले की जानकारी रखने वाले दो सूत्रों में से एक सूत्र ने बताया कि अभी इस मुद्दे पर कुछ कहना बहुत जल्दबाजी होगी। किस तरीके से पूंजी जुटाई जाएगी यह वैल्यूएशन के निर्धारण पर निर्भर करेगा। इस मुद्दे पर चर्चा के लिए 5 जून को इन्वेस्टमेंट बैंकरों की बैठक होगी। इस बात की बहुत कम संभावना है कि इस महीने में कोई बिक्री होगी क्योंकि इसके लिए बहुत ज्यादा कागजी कार्यवाई की जरुरत होती है।


गौरतलब है कि मार्च महीने में यस बैंक को डिपॉजिट्स की लागातार निकासी, बैंक की फंड जुटाने में असफलता और निम्नतम नियामक कानूनों के पालन में असफल रहने पर आरबीआई ने मॉरिटेरियम में रख दिया था।


सरकार द्वारा यस बैंक को बचाने के लिए बनाए गए रेस्क्यू प्लान के तहत एसबीआई के नेतृत्व वाले कंसोर्टियम को यस बैंक का प्रबंधन सौंप दिया गया था। इस कंसोर्टियम में एसबीआई की हिस्सेदारी 48.21 फीसदी है। इसके अलावा कोटक महिंद्रा बैंक की इस कंसोर्टियम में 3.61 फीसदी  और एक्सिस बैंक की 4.78 फीसदी हिस्सेदारी है।


आरबीआई के नियमों का पालन को सुनिश्चित करने के लिए यस बैंक को इस साल 4000 करोड़ रुपये की पूंजी जुटानी होगी।  


सोशल मीडिया अपडेट्स के लिए हमें Facebook (https://www.facebook.com/moneycontrolhindi/) और Twitter (https://twitter.com/MoneycontrolH) पर फॉलो करें।