Moneycontrol » समाचार » बाज़ार खबरें

आपने भी रखा है नवरात्रि का उपवास, जानिए व्रत, उपवास के कूलेस्ट फंडे !

उपवास पर बात करने के लिए कंज्यूमर अड्डा में एक साथ आए हैं डॉक्टर, न्यूट्रिशनिस्ट और पंडित जी।
अपडेटेड Oct 04, 2019 पर 15:49  |  स्रोत : CNBC-Awaaz

उपवास यानि एक निश्चित समय के लिए खाने-पीने की चीजों का त्याग। वैसे तो रात भर हर आदमी उपवास में होता है और इसीलिए सुबह के नाश्ते को ब्रेक-फास्ट कहते हैं। लेकिन व्रत, त्योहार या फिर वेट कंट्रोल जैसी किसी वजह से उपवास करना आपके शरीर के लिए सामान्य चीज नहीं है। थोड़ी सी लापरवाही आपका बड़ा नुकसान कर सकती है। तो धर्म का पालन करिए और पुण्य कमाइये लेकिन साथ में अपनी सेहत का ख्याल भी रखिए। पुण्य के साथ सेहत भी कमाइये गंवाइये नहीं। इसीलिए आज कंज्यूमर अड्डा में एक साथ आए हैं डॉक्टर, न्यूट्रिशनिस्ट और पंडित जी।


उपवास कैसे-कैसे?


1- सूर्योदय से सूर्यास्त तक उपवास


2- कई दिनों तक लगातार उपवास


3- कुछ घंटों तक या पूजा करने तक


4- सिर्फ पानी, दूसरे पेय पर उपवास


5- बिना अन्न सिर्फ फलाहार पर


6- कुछ चुनी हुई खाने पीने की चीजें


हेल्थ के लिए उपवास


1- 16 घंटे रोज, रात से दोपहर तक


2- 5 दिन पूरा खाना, 2 दिन उपवास


3- 2 दिन 500-600 कैलोरी से ज्यादा नहीं


4- 24 घंटे सप्ताह में 1 या 2 दिन


5- हर दूसरे दिन सिर्फ 500 कैलोरी भोजन


6- दिन में हल्का, रात को पूरा खाना


7- तेज भूख नहीं तो खाने का त्याग


उपवास के फायदे


नियमित उपवास के फायदे अप्रमाणित हैं। हालांकि उपवास के फायदों पर रिसर्च जारी है। सही तरीके से उपवास से फायदा संभव है। उपवास से जीवन प्रत्याशा बढ़ती है। इससे बल्ड शूगर, लिपिड का नियंत्रण संभव है। उपवास दिल की बीमारियों का खतरा भी घटता है और शरीर का वजन नियंत्रण में रहता है। उपवास कैंसर से बचाव करने में भी सहायक है।


उपवास के कूल टिप्स


उपवास से पहले डॉक्टर से पूछें क्योंकि उपवास सबके लिए ठीक नहीं होता। इसका पुरुषों और महिलाओं पर अलग-अलग असर होता है। आपके प्रोफेशन से भी फर्क पड़ता है। उपवास के पहले पारिवारिक स्थिति को ध्यान में रखें। अपने शरीर के प्रति जागरुकता जरूरी है।


उपवास ना करें अगर


1- आप गर्भवती या बीमार हैं


2- आम तौर पर खान-पान गड़बड़ है


3- आप अक्सर तनाव में रहते हैं


4- आप नियमित नींद पूरी नहीं करते


5- कभी डायट, एक्सरसाइज नहीं किया


उपवास जरा सावधानी से


अगर आपके ऊपर बच्चे का जिम्मा है या आप स्ट्रेस वाली जॉब में हैं। जल्दी किसी स्पोर्ट्स में हिस्सा लेना है तो उपवास में सावधानी बरतें। उपवास में महिलाओं को विशेष सावधानी की जरूरत होती है।


बिंदास करो उपवास अगर


1- अगर आप अपने कैलोरी इनपुट पर नजर रखते हैं


2- आपको एक्सरसाइज का लंबा अनुभव है


3- सिंगल हैं, बच्चों जैसी जिम्मेदारी नहीं है


4- आपका पार्टनर बहुत सहयोग करता है


5- आप अपने काम से राहत ले सकते हैं



उपवास में रखें ख्याल


उपवास में सामान्य तरीके से पानी पीते रहें, बार-बार चाय ना पिएं। सिर्फ लिक्विड डायट काफी नहीं होती। न्यूट्रिशन के लिए सॉलिड जरूरी है। लंबे समय तक खाली पेट ना रहें। थोड़ी-थोड़ी देर पर कुछ खाते रहें। खट्टे जूस से अच्छा नारियल पानी होता है। तले हुए खाने से अच्छा सादा खाना होता है। व्रत खोलते समय खूब खाना नहीं चाहिए।



सोशल मीडिया अपडेट्स के लिए हमें Facebook (https://www.facebook.com/moneycontrolhindi/) और Twitter (https://twitter.com/MoneycontrolH) पर फॉलो करें।