Moneycontrol » समाचार » बाज़ार

पाकिस्तान के भरोसे पर FATF को यकीन, ब्लैकलिस्ट नहीं होगा पाकिस्तान

पाकिस्तान अभी FATF की ग्रे लिस्ट में है और टेरर फाइनेंसिंग के खिलाफ कार्रवाई करने का भरोसा दिलाया
अपडेटेड Jan 24, 2020 पर 16:22  |  स्रोत : Moneycontrol.com

FATF यानी फाइनेंशियल एक्शन टास्क फोर्स को पाकिस्तान ने यह भरोसा दिला दिया है कि उसने आतंकी ग्रुप के खिलाफ जरूरी कार्रवाई कर दी है। इकोनॉमिक टाइम्स के मुताबिक, डिप्लोमैटिक सोर्स का कहना है कि FATF ने यह जानकारी दी है।


बीजिंग में FATF की तीन दिवसीय बैठक चल रही है। इस बैठक में मनी लॉन्ड्रिंग और टेरर फाइनेंसिंग रोकने के मामले पर पाकिस्तान की तरफ से उठाए गए कदमों पर चर्चा हुई।


सूत्रों का कहना है कि चीन, अमेरिका, यूनाइटेड किंगडम, ऑस्ट्रेलिया, न्यूजीलैंड, जापान सहित किसी दूसरे देश ने पाकिस्तान के एक्शन प्लान के खिलाफ कोई नकारात्मक बयान नहीं दिया है। FATF की तरफ से यह बयान आना कि आतंकवाद के खिलाफ पाकिस्तान जरूरी कार्रवाई कर रहा है, पाकिस्तान के लिए बड़ी राहत है। इससे पहले अक्टूबर 2019 में पाकिस्तान को कहा गया था कि फरवरी 2020 तक वह की गई सिफारिशों पर अमल करे।


सूत्रों के मुताबिक, "अफगानिस्तान में अमेरिका को  पाकिस्तान की जरूरत है। अमेरिका तालिबान के साथ जल्दी डील करना चाहता है ताकि वह ईरान को टक्कर दे सके। अफगानिस्तान और ईरान दोनों ही पाकिस्तान के पड़ोसी देश हैं।" लिहाजा अमेरिका पाकिस्तान के एंटी-टेरर ग्रुप पर लिए सख्त फैसलों में नरमी बरत सकता है।


इस्लामाबाद के डेलिगेशन ने FATF के सदस्यों को यह भरोसा दिला दिया है कि वह आतंकी ग्रुप की फंडिंग रोकने के एक्शन प्लान पर काम करेगा। पाकिस्तान पर FATF का रुख देखकर भारत चिंतित है कि एंटी-टेरर ग्रुप पर फैसले से लश्कर-ए-तैयबा और जैश-ए-मोहम्मद जैसे आतंकी ग्रुप सिर उठा सकते हैं। 


सोशल मीडिया अपडेट्स के लिए हमें Facebook (https://www.facebook.com/moneycontrolhindi/) और Twitter (https://twitter.com/MoneycontrolH) पर फॉलो करें।