Asian Paints लाल निशान में कर रहा ट्रेडिंग, रिलेटेड पार्टी ट्रांजैक्शन को लेकर प्रमोटर्स की बढ़ी मुश्किलें

Asian Paints लाल निशान में कर रहा ट्रेडिंग, रिलेटेड पार्टी ट्रांजैक्शन को लेकर प्रमोटर्स की बढ़ी मुश्किलें

ये गिरावट पेंट मेकर की तरफ से रिलेटेड पार्टी ट्रांजैक्शन के लिए फिर से सुर्खियों में आने के बाद आई है

अपडेटेड Nov 25, 2021 पर 2:09 PM | स्रोत : Moneycontrol.comAsian Paints (FILE)

एशियन पेंट्स (Asian Paints) के शेयर गुरुवार को लाल रंग में कारोबार कर रहे थे। ये गिरावट पेंट मेकर की तरफ से रिलेटेड पार्टी ट्रांजैक्शन के लिए फिर से सुर्खियों में आने के बाद आई है। सुबह 9:16 बजे एशियन पेंट्स के शेयर BSE पर 0.2 फीसदी की गिरावट के साथ 3,154 रुपए पर कारोबार कर रहे थे। खबर लिखे जाने के समय इसके शेयर की कीमत 3,123.50 रुपए थी।

एक मीडिया रिपोर्ट में कहा गया है कि एशियन पेंट्स के प्रमोटर दानी परिवार पर प्रॉक्सी एडवाइजरी फर्म इनगवर्न ने निशाना साधा है। फर्म ने एशियन पेंट्स और डैनिस के मालिकाना हक वाली एक प्राइवेट कंपनी Paladin Paints & Chemicals के बीच कई रिलेटेड पार्टी ट्रांजैक्शन की ओर इशारा किया।

इनगवर्न ने कथित तौर पर Danis के कंट्रोल संस्थाओं से जुड़े हितों के टकराव को उजागर किया है। डैनिस पेंट बनाने वाली कंपनी को कच्चा माल भी सप्लाई करती है।

एक दूसरी रिपोर्ट में कहा गया है कि इनगवर्न ने रिलेटेड पार्टी ट्रांजैक्शन के आरोपों के बीच एशियन पेंट्स के प्रमोटर अश्विन दानी और उनके बेटे मालव दानी को बोर्ड से हटाने की मांग की है।

Latent View Analytics: बंपर लिस्टिंग के बाद सिर्फ 2 दिन में 40% चढ़े कंपनी के शेयर, निवेशकों का क्या करना चाहिए?

एक महीने पहले एक व्हिसलब्लोअर ने SEBI को पत्र लिखकर दावा किया था कि डैनिस ने एशियन पेंट्स के शेयर होल्डर्स की कीमत पर खुद को समृद्ध बनाने का दावा किया था, इसके बाद यह घटनाक्रम सामने आया है।

व्हिसलब्लोअर ने SEBI से किया कि पलाडिन पेंट्स एंड केमिकल्स नाम की कंपनी को खरीदने के लिए पैसा एशियन पेंट्स से गया था, लेकिन इसके प्रमोटर अश्विन दानी और बेटे मालव अब अपनी व्यक्तिगत क्षमता में इसे कंट्रोल करते हैं।

इसके जवाब में, पेंट मेकर ने तब साफ किया था कि 'इस शिकायत की जांच कंपनी की व्हिसल ब्लोअर नीति के अनुसार की गई थी, और उसमें बताए गए लेनदेन की डिटेल्ड रिव्यू करने के बाद, शिकायत को बंद कर दिया गया था, क्योंकि ये जांच पूरी हो गई थी कि लेन-देन कानून के अनुपालन में किए गए थे और लगाए गए आरोपों का कोई आधार नहीं था।"

MoneyControl News

MoneyControl News

First Published: Nov 25, 2021 2:09 PM

सब समाचार

+ और भी पढ़ें