Dalal Street Week Ahead: कुछ अहम फैक्टर जो इस हफ्ते तय करेंगे बाजार की दशा और दिशा

Dalal Street Week Ahead: कुछ अहम फैक्टर जो इस हफ्ते तय करेंगे बाजार की दशा और दिशा

आज के कारोबार में बाजार सबसे पहले Reliance Industries और ICICI Bank के नतीजों पर रिऐक्ट करेगा.

अपडेटेड Oct 25, 2021 पर 7:30 AM | स्रोत : Moneycontrol.com

पहली बार निफ्टी के 18,600 का स्तर और BSE Sensex के 62,000 का स्तर पार करने के बाद अंतत: बुल्स अब कुछ सुस्ताते नजर आ रहे हैं। जिसका असर ये हुआ कि बाजार की लगाम मंदड़ियों के हाथ में आ गई और साप्ताहिक आधार पर करीब 1 फीसदी गिारवट के साथ बंद होने को पहले बाजार पिछले हफ्ते के दौरान अपने रिकॉर्ड हाई से 3 फीसदी तक टूटा था।

कंपनियों के नतीजों में कच्चेमाल की कीमतों के महंगाई का असर देखने को मिल रहा है। इस के अलावा बढ़ती यूएस बॉन्ड ईल्ड भी मार्केट के संटीमेंट पर अपना असर दिखा रही है। इसके अलावा बीते हफ्ते  FIIs औऱ DIIs दोने नेट सेलर रहे थे। 22 अक्टूबर को खत्म हुए हफ्ते में Nifty 223.65 अंक टूटकर 18,114.90 के स्तर पर बंद हुआ था। वहीं, BSE Sensex 484.33 अंक गिरकर 60,821.62 के स्तर पर बंद हुआ था। इस हफ्ते बैंकिंग को छोड़कर सभी सेक्टोरल इंडेक्स लाल निशान में बंद हुए थे। Metal, FMCG, Pharma और Realty करीब 5 फीसदी की गिरावट के साथ बिगेस्ट लूजर रहे थे।

दिग्गजों की तुलना में छोटे-मझोले शेयरों में ज्यादा बिकवाली देखने को मिली थी जिसने अबतक की रैली में बेंचमार्क इंडेक्स की तुलना में ज्यादा बेहतर प्रदर्शन किया था। बीते हफ्ते BSE Midcap 4 फीसदी से ज्यादा टूटा था वहीं, Smallcap 5 से ज्यादा गिरा था।

ये स्टॉक साल 2021 में 25% गिरा, फिर भी Vijay Kedia ने बढ़ाई हिस्सेदारी, जानिये वजह

आज कैसा रह सकता है बाजार का है इस पर  नजर डालें 25 अक्टूबर यानी आज के कारोबार में बाजार सबसे पहले Reliance Industries और ICICI Bank के नतीजों पर रिऐक्ट करेगा। बता दें कि Reliance के नतीजे शुक्रवार को बाजार बंद होने को बाद आए थे। वहीं, ICICI Bank के नतीजे शनिवार को आए थे।

बाजार दिग्गजों का कहना है कि पिछले हफ्ते की बिकवाली के बाद बाजार में कंसोलीडेशन ट्रेंड के साथ दायरे में कारोबार होता नजर आ सकता है। इसी हफ्ते मंथली एक्पायरी भी है जिसका असर बादार पर दिखेगा। इसके अलावा बाजार की नजर बैंकिंग सेक्टर के साथ ही दूसरे अहम नतीजों पर भी होगी। जानकारों का मानना है कि इस हफ्ते बाजार को बैंर निफ्टी से सपोर्ट मिलता दिख सकता है जिसने पिछले हफ्ते 40000 का स्तर पार कर लिया था।

सैम्को सिक्योरिटीज की एशा शाह का कहना है कि अगले हफ्ते बाजार अपने पैर जमाने के लिए संघर्ष करता नजर आ सकता है। और एक दायरे में कारोबार करता दिख सकता है। बीते हफ्ते पहली बार 40,000 का स्तर पार करने के बाद अगले हफ्ते भी बैंक निफ्टी के सुर्खियों में बने रहने की संभावना है। इसी दौरान कई बड़े बैंक अपने नतीजे पेश करने वाले हैं।

इस हफ्ते बाजार की कहां रहेगी नजर

हम सितंबर निमाही के नतीजों के मौसम के मध्य में पहुंच गए हैं। इस हफ्ते करीब 700 कंपनियों के दूसरी तिमाही नतीजे आएंगे जिसमें Nifty50 की 20 कंपनियां शआमिल हैं। निफ्टी में शामिल इन 20 कंपनियों का वेटेज 26.70 फीसदी है। इस हफ्ते Bajaj Finance, Bajaj Finserv, Kotak Mahindra Bank, ITC, L&T, Axis Bank, Maruti Suzuki, Titan Company, Adani Ports, Tech Mahindra, NTPC, Indian Oil Corporation, SBI Life Insurance Company, Bajaj Auto, Shree Cement, BPCL, IndusInd Bank, Dr Reddys Labs, Cipla और UPL जैसे बड़े नतीजे आएंगे।

इसके आलावा Among others, Lupin, Aditya Birla Sun Life AMC, Colgate-Palmolive (India), Coforge, CSB Bank, HDFC Asset Management Company, Indus Towers, ABB India, Ambuja Cements, Canara Bank, Adani Enterprises, Punjab National Bank, Zee Entertainment Enterprises, CarTrade Tech, DLF, Blue Star, InterGlobe Aviation, Karnataka Bank, Marico, RBI Bank, SBI Cards and Payment Services, Tata Power, Adani Power, Apollo Tyres, Bandhan Bank, Cadila Healthcare, Escorts, Exide Industries, GAIL India, Oberoi Realty, Vedanta, Voltas और Rossari Biotech  भी इसी हफ्ते अपने दूसरी तिमाही के नतीजे पेश करेंगी।

Market Live:बाजार दिन के निचले स्तरों पर,Nifty 18000 के आसपास, नतीजों के बाद RIL और ICICI बैंक फोकस में

कोरोना के नए वैरिएंट ने बढ़ाई चिंता

भारत में कोरोना टीकाकरण का आंकड़ा 100 करोड़ के लेवल को पार कर लिया है। पिछले 24 घंटे में 68.48 लाख डोज लगाए गए हैं। इसके साथ ही देश में कुल जनसंख्या  के करीब 30 फीसदी हिस्से के वैक्सीन की दोनों डोज लग गई है। इसके साथ ही देश में दैनिक स्तर पर आने वाले कोरोना के मामलों में भी गिरावट देखने को मिली है। जिससे पूरे देश में धीरे-धीरे कोरोना के कारण लागू प्रतिबंध हट रहे हैं। इससे बादार के सेंटीमेंट में सुधार होगा और इकोनॉमी में तेजी से रिकवरी आती दिखेगी। किन दुनिया के तमाम देशों में कोरोना के नए वैरिएंट के फैलाव ने फिर से चिंता पैदा कर दी है। आगे बाजार की नजर कोरोना के नए वैरिएंट के फैलाव पर रहेगी।

एफआईआई फ्लो

पिछले हफ्ते एफआईआई और डीआईआई दोनों ने बिकवाली की। शेयर बाजार में एक तरफ रैली के बाद दूसरी तिमाही  के नतीजों में कंपनियों के मार्जिन पर  कच्चे माल की कीमतों में बढ़ोत्तरी की वजह से दबाव देखने को मिल रहा है। लेकिन बाजार जानकारों का कहना है कि समय-समय पर होने वाली मुनाफा वसूली सामान्य बात है। आगे हमें इकोनॉमी में अच्छी रिकवरी के साथ ही कंपनियों के नतीजों में भी मजबूती आएगी जिसका फायदा बाजार को मिलेगा।


बता दें कि 22 अक्टूबर को खत्म हुए हफ्ते में एफआईआई ने 7,353 करोड़ रुपए की और डीआईआई ने 4,504 करोड़ रुपए की बिकवाली की है। अक्टूबर में अब तक एफआईआई ने 10,000 करोड़ रुपए की और डीआईआई ने  5,000 करोड़ रुपए की बिकवाली की है। ऐसे में इस हफ्ते बाजार की नजर एफआईआई के मूड पर रहेगी।

अमेरिका पर नजर डालें तो इस हफ्ते Apple, Facebook, Microsoft, Alphabet और Amazon के नतीजे आने वाले हैं। अमेरिका में Q3 के GDP आंकड़े भी आएंगे। ECB,जापान, कनाडा और ब्राजील की Monetary पॉलिसी का एलान भी इसी हफ्ते होगा। उधर अमेरिका में महंगाई को लेकर चिंता बरकरार है। Janet Yellen ने कहा है कि अगले साल महंगाई के काबू में आने की उम्मीद है।

कोमोडिटी और मुद्रा बाजार पर रहेगी नजर

कमोडिटी पर नजर डालें तो कच्चा तेल  86 डॉलर प्रति बैरल और नैचुरल गैस 5.54 डॉलर के पार चले गए हैं। 10 साल की अमेरिकी बॉन्ड यील्ड 1.63 फीसदी बढ़ी है। डॉलर इंडेक्स 93.60 पर और सोना  1798 डॉलर पर दिख रहा है। ऐसे में अगले हफ्ते बाजार की नजर  ग्लोबल कमोडिटी और मुद्रा बाजार पर भी रहेगी।


 

सोशल मीडिया अपडेट्स के लिए हमें Facebook (https://www.facebook.com/moneycontrolhindi/) और Twitter (https://twitter.com/MoneycontrolH) पर फॉलो करें.

MoneyControl News

MoneyControl News

First Published: Oct 25, 2021 7:30 AM

सब समाचार

+ और भी पढ़ें