Moneycontrol » समाचार » म्यूचुअल फंड खबरें

Franklin Templeton म्यूचुअल फंड ने बंद पड़े 6 Debt Schemes के यूनिटहोल्डर्स को अब तक 17,777 करोड़ रुपये लौटाये

फ्रैंकलिन टेम्पलटन इंडिया कहा कि कंपनी ने बंद पड़े 6 फिक्स्ड इनकम स्कीमों के यूनिटहोल्डर्स को 15 जून तक 17,777 करोड़ रुपये लौटा दिए हैं
अपडेटेड Jun 17, 2021 पर 17:26  |  स्रोत : Moneycontrol.com

अमेरिकी म्यूचुअल फंड हाउस फ्रैंकलिन टेम्पलटन की भारतीय इकाई फ्रैंकलिन टेम्पलटन इंडिया (Franklin Templeton India) ने 6 फिक्स्ड इनकम स्कीमों के यूनिटहोल्डर्स को 15 जून तक 17,777 करोड़ रुपये लौटा दिए हैं। इन सभी 6 डेट स्कीम्स (Debt Schemes) को बॉन्ड मार्केट में पर्याप्त लिक्विडिटी नहीं होने के कारण समय से पहले ही बंद करना पड़ा था।

फ्रैंकलिन टेम्पलटन द्वारा यूनिटहोल्डर्स को लौटाई गई यह राशि इन 6 डेट स्कीम्स के कुल ऐसेट्स अंडर मैनेजमेंट (AUM) के 71% के बराबर है। ऐसेट्स अंडर मैनेजमेंट वह अमाउंट होता है तो निवेशक किसी म्यूचुअल फंड हाउस के यबैं निवेश करने के लिए जमा कराते हैं।

Commodity market: फेड के फैसले से सोना धड़ाम, अब आगे कैसी रहेगी सोने-चांदी की चाल

कंपनी ने बताया कि बंद होने वाले Franklin Templeton के डेट स्कीम्स फ्रैंकलिन इंडिया अल्ट्रा शॉर्ट बॉन्ड फंड, फ्रैंकलिन इंडिया लो डुरेशन फंड, फ्रैंकलिन इंडिया डायनामिक एक्यूरल फंड, फ्रैंकलिन इंडिया क्रेडिट रिस्क फंड, फ्रैंकलिन इंडिया शॉर्ट टर्म इनकम प्लान और फ्रैंकलिन इंडिया इनकम अपॉरच्यूनिटीज फंड का कुल एसेट्स अंडर मैनेजमेंट (AUM) 25,000 करोड़ रुपये के करीब है।

फरवरी, 2021 में Franklin Templeton के इन स्कीम्स में निवेश करने वालों को 9122 करोड़ रुपये मिले थे। जबकि, अप्रैल 2021 में कंपनी ने निवेशकों को 2962 करोड़ रुपये लौटाये और 3 मई को 2489 करोड़ रुपये यूनिटहोल्डर्स को वापस किए गए। जबकि, 5 जून तो म्यूचुअल फंड हाउस ने निवेशकों के 3205 करोड़ रुपये लौटाये। Franklin Templeton MF ने अपने बयान में कहा कि 15 जून को कंपनी के पास बांटने के लिए 580 करोड़ रुपये कैश में मौजूद था।

12 घंटे काम और आधे घंटे का ब्रेक, बढ़ेगा PF लेकिन घटेगी आपकी सैलरी, मोदी सरकार बदलेगी नियम?

आपको बता दें कि म्यूचुअल फंड कंपनी ने बॉन्ड मार्केट में लिक्विडिटी कम होने और रिडेम्शन प्रेशर बनने के चलते स्कीमों को 23 अप्रैल को बंद किया था, जिसके पर बाद में सुप्रीम कोर्ट के आदेश पर इस स्कीम्स में निवेश करने वाले यूनिटहोल्डर्स ने वोटिंग की थी और इन स्काम्स को बाइंड-अप करने पर अपनी मुहर लगाई थी।

पिछले सप्ताह मार्केट रेगुलेटर SEBI ने फ्रैंकलिन टेम्पलटन ऐसेट मैनेजमेंट कंपनी (FT-AMC) पर 2 साल तक कोई नया डेट स्कीम (Debt Scheme) लॉन्च करने पर रोक लगा दी। यानी कंपनी 2 साल कोई नया डेट स्कीम नहीं लॉन्च कर पाएगी। साथ ही पिछले साल 6 डेट म्यूचुअल फंड्स स्कीम को बंद करने और नियम तोड़ने पर फ्रैंकलिन टेम्पलटन और 8 अन्य एंटिटीज पर 15 करोड़ रुपये का जुर्माना लगाया है।

सोशल मीडिया अपडेट्स के लिए हमें Facebook (https://www.facebook.com/moneycontrolhindi/) और Twitter (https://twitter.com/MoneycontrolH) पर फॉलो करें।