Moneycontrol » समाचार » म्यूचुअल फंड खबरें

निवेश में बढ़ी युवाओं की दिलचस्पी, कहां मिलेगा और फायदा

योर मनी की हमेशा कोशिश होती है कि हमारे युवा, आर्थिक निवेश की ओर अपनी दिलचस्पी बढाएं।
अपडेटेड Jan 09, 2018 पर 09:16  |  स्रोत : CNBC-Awaaz

योर मनी की हमेशा कोशिश होती है कि हमारे युवा, आर्थिक निवेश की ओर अपनी दिलचस्पी बढाएं। आर्थिक जीवन की बागडोर अपने हाथ में लें और ये बात काफी हद तक सार्थक होती भी दिख रही है। युवा ब्रिगेड का निवेश कहां और कैसे इतना बढ रही है, योर मनी इसकी पड़ताल करेगा और साथ ही युवा निवेशकों को यह समझाने की कोशिश करेगें की समय रहते कैसे अपने निवेश की रणनीति तैयार करें। हमारे साथ मौजूद है रूंगटा सिक्योरिटीज के डायरेक्टर हर्षवर्धन रूंगटा।


हर्षवर्धन रूंगटा का कहना है कि युवाओं में म्युचुअल फंड में निवेश करने का जोश बढ़ा है। 20 से 35 साल के युवाओं का म्युचुअल फंड में निवेश बढ़ा है। साल 2017 में म्युचुअल फंड में 40-50 फीसदी निवेश युवाओं के जरिए किए गए है। हालांकि यह निवेश एसआईपी के जरिए काफी बढ़ी संख्या में हुआ है। अधिकतर युवाओं ने इक्विटी में निवेश करना पसंद किया है। पिछले साल एसबीआई म्युचुअल फंड के 34 फीसदी निवेशक युवाओं ने किया है।


हर्षवर्धन रूंगटा के मुताबिक युवाओं में जोखिम उठाने की क्षमता अन्य निवेशकों की तुलना में अधिक होता है और उनमें जल्दी निवेश की समझ भी ज्यादा होती है। युवा पीढ़ी जल्दी रिटायर होना चाहती है। इसलिए युवाओं ने अपने लक्ष्य को निर्धारित कर रखें हैं।


सवालः 15 साल के लिए 10 हजार की एसआईपी करनी है?म्युचुअल फंड पर सलाह चाहिए? 


हर्षवर्धन रूंगटा: जल्दी निवेश का बड़ा फायदा हो सकता है। कोटक सिलेक्ट फोकस फंड में 3000 रुपये प्रति माह, आईसीआईसीआई प्रु बैलेंस्ड फंड में 4000 रुपये और कैनरा रोबेको इमर्जिंग फंड 3000 रुपये निवेश करने की सलाह होगी। ध्यान रखें की आप अपने  पोर्टफोलियो की समीक्षा 2 साल में करते रहें।