Moneycontrol » समाचार » म्यूचुअल फंड खबरें

पीएनबी घोटाले की गाज, कैसे बचाएं अपनी पूंजी

पीएनबी घोटाले और आपके निवेश पर ही विस्तार से बात करने के लिए हमारे साथ मौजूद हैं हर्षवर्धन रूंगटा।
अपडेटेड Feb 20, 2018 पर 13:56  |  स्रोत : CNBC-Awaaz

पंजाब नेशनल बैंक का 11,500 करोड का घोटाले ने पूरे देश को हिलाकर रख दिया है। स्टॉक की लगातार पिटाई हो रही है, और ये 21 फीसदी से ज्यादा लुढक चुका है। जहां तक म्यूचुअल फंड की बात है, 117 म्यूचुअल फंड स्कीम का निवेश पीएनबी में है और एसे में इक्विटी म्यूचुअल फंड का कुल पीएनबी में निवेश यानी शेयर होल्डिंग 3,980 करोड की है।


एचडीएफसी की कुछ स्कीम का 1800 करोड का निवेश जो की उसके प्रति स्कीम का 1 से 2 फीसदी है। वहीं, रिलायंस की स्कीम का 2 से 4 फीसदी निवेश पीएनही में है। योर मनी हम पीएनबी घोटाले और आपके निवेश पर ही विस्तार से बात करेंगे और हमारा साथ देने कि लिए मौजूद हैं रूंगटा सिक्योरिटी के सीएफपी हर्षवर्धन रूंगटा।


हर्षवर्धन रूंगटा का कहना है कि एक म्यूचुअल फंड में 30 से 40 कंपनी में निवेश करती है। हर म्यूचुअल फंड स्कीम का 4-5 फीसदी निवेश एक कंपनी में होता है। फंड की थीम के चलते कंपनी में एलोकेशन तय किया जाता है। मल्टी थीम के फंड का प्रदर्शन चिंताजनक नहीं है। हर्षवर्धन रूंगटा  ने आगे बताया कि पीएनबी घोटाले का ज्यादा असर सेक्टर फंड पर सबसे ज्यादा हुआ है। पीएनबी घोटाले से बैंकिंग फंड के प्रदर्शन पर असर होता है। साथ ही पीएनबी घोटाले का ज्वेलरी सेक्टर पर भी असर पड़ा है। लिहाजा बैंकिंग फंड में नए निवेश से बचें।


सवालः 18-20 साल में बच्चों की पढ़ाई के लिए 40-50 लाख रुपय औऱ 25-30 साल में रिटायरमेंट के लिए 1-1.5 करोड़ रुपये चाहिए? मोतीलाल ओसवाल मोस्ट फोकस्ड मल्टीकैप 35, कोटक सिलेक्ट फोकस फंड जैसे कुछ और फंड में निवेश जारी है। 6,000 रुपये प्रति माह की एसआईपी करनी है। क्या पोर्टफोलियों में किसी सुधार की जरूरत?


हर्षवर्धन रूंगटाः चुनी हुई स्कीम्स सही हैं। पोर्टफोलियो में 2 मिड-स्मॉलकैप फंड हैं। इनमें से किसी एक को ही रखने की सलाह होगी। रिलायंस स्मॉलकैप फंड में निवेश जारी रखने की सलाह है। बिड़ला सनलाइफ टैक्स रिलीफ 96 में निवेश करें। मौजूदा निवेश से दोनों लक्ष्य एक-साथ पूरे नहीं होंगे। भविष्य में निवेश की रकम बढ़ाएं।