Moneycontrol » समाचार » ख़बरें

11th BRICS Summit: ब्राजील पहुंचे पीएम मोदी, शी जिनपिंग के साथ मुलाकात पर होगी नजर

पीएम मोदी की चीनी राष्ट्रपति शी जिनपिंग के साथ अहम द्विपक्षीय बैठक होनी है
अपडेटेड Nov 13, 2019 पर 16:28  |  स्रोत : Moneycontrol.com

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी 11वें Brazil-Russia-India-China-South Africa (BRICS) Summit के लिए बुधवार को ब्राजील पहुंचे हैं। 2014 में सत्ता में आने के बाद पीएम मोदी छठी बार इस समिट में हिस्सा लेने जा रहे हैं। यहां पर पीएम मोदी की चीनी राष्ट्रपति शी जिनपिंग के साथ अहम द्विपक्षीय बैठक होनी है, जो भारत के RCEP में शामिल न होने के बैकड्रॉप के बीच हो रही है।


पीएम मोदी ब्रिक्स समिट में हिस्सा लेने के लिए दूसरी बार ब्राजील जा रहे हैं। उन्होंने इसके पहले जुलाई, 2014 में ब्राजील के फोर्तालेजा में हिस्सा लेने पहुंचे थे। इस साल के समिट का थीम Economic Growth for an Innovative Future है।


पीएम मोदी यहां बुधवार को ब्राजील के प्रेसिडेंट जेयर बोल्सोनारो, चीनी राष्ट्रपति शी जिनपिंग और रूसी राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन से मुलाकात करेंगे। उनके इस विजिट में दो-तीन पहलू अहम रहेंगे।


इस समिट के इतर पीएम मोदी की चीनी राष्ट्रपति शी जिनपिंग के साथ द्विपक्षीय मीटिंग होनी है। यह मीटिंग तब हो रही है भारत ने चीन के नेतृत्व वाले Regional Comprehensive Economic Partnership (RCEP) में भागीदारी करने से इनकार कर दिया है। भारत का कहना था कि उसे इस ट्रेड अग्रीमेंट में उसके व्यापारिक हितों को नुकसान होगा। उसे डर है कि इस डील के बाद भारत में चीन के सामानों का निर्यात बढ़ जाएगा। वहीं भारत ने चिंता जताई थी कि उसके अग्री सेक्टर और MSMEs को बेहतर व्यापार के मौके नहीं मिलेंगे।


चीन और जापान ने बोला है कि वो भारत के साथ बातचीत करके उसकी चिंताएं दूर करने की कोशिश करेंगे। ऐसे में इस मीटिंग में भारत और चीन इस संबंध में किसी नतीजे पर पहुंचते हैं या नहीं, यह देखना होगा।


इसके अलावा इस समिट में भारत दूसरे देशों के साथ मिलकर इकोनॉमी, साइंस, टेक्नोलॉजी और इनोवेशन के क्षेत्र में सहयोग बढ़ाने पर चर्चा करेगा। उम्मीद है कि समिट खत्म होने के बाद Trade and Investment Promotion Agencies इसे लेकर BRICS MoU पर साइन करेंगी।


भारत आतंकवाद की समस्या के खिलाफ कदम उठाने के लिए दूसरे देशों को साथ कदम उठाने के लिए आह्वान करेगा। भारत ब्रिक्स देशों के साथ मिलकर ब्रिक्स फ्रेमवर्क के भीतर काउंटर-टेरेरिज्म कोऑपरेशन के लिए एक मैकेनिज्म तैयार करना चाहता है।


सोशल मीडिया अपडेट्स के लिए हमें Facebook (https://www.facebook.com/moneycontrolhindi/) और Twitter (https://twitter.com/MoneycontrolH) पर फॉलो करें।