Moneycontrol » समाचार » ख़बरें

यूपी में बेरोजगार हो गए 25 हजार होमगार्ड, पुलिस विभाग में दे रहे थे सेवाएं

योगी सरकार ने एक झटके में 25 होमगार्ड की ड्यूटी खत्म कर दी है।
अपडेटेड Oct 16, 2019 पर 09:24  |  स्रोत : Moneycontrol.com

उत्तर प्रदेश में सरकार ने 25 हजार होमगार्ड की ड्यूटी खत्म कर दी है। योगी सरकार ने बजट का हवाला देकर ये फैसला लिया है। होमगार्ड के जवानों को पुलिस के बराबर वेतन दिए जाने से सरकार ने इनकी ड्यूटी समाप्त कर दी है। ADG पुलिस मुख्यालय बीपी जोगदंड ने इस संबंध में देश जारी कर दिए हैं।


दरअसल राज्य में कानून और शांति व्यवस्था कायम रखने के लिए पुलिस के साथ होमगार्ड भी ड्यूटी करते हैं। कई जगह तो उनकी ड्यूटी ट्रैफिक में भी लगाई जाती है। चीफ सेक्रेट्री की अगुवाई में 28 अगस्त को एक मीटिंग हुई थी। जिसमें होम गार्ड की ड्यूटी खत्म करने का निर्णय लिया गया। लिहाजा पुलिस मुख्यालय प्रयागराज की ओर से जारी आदेश में होमगार्ड की तैनाती तत्काल प्रभाव से समाप्त कर दी गई।


सूत्रों का कहना है कि कोर्ट का आदेश था कि होमगार्ड को भी पुलिस के बराबर वेतन दिय जाए। ऐसे में एक दिन का वेतन 500 रुपये से बढ़कर 672 रुपये हो गया। इसका सीधा असर जिलों के बजट पड़ा। 


राज्य में होमगार्ड के पद 1 लाख 18 हजार हैं। इसमें से 19 हजार पद खाली हैं। पिछले महीने 92 हजार होमगार्ड की ड्यूटी लगाई जा रही थी। जबकि मौजूद होमगार्ड की संख्या 99 हजार थी।


अभी तक हर एक होमगार्ड जवान को 25 दिन की ड्यूटी मिलती थी। ऐसे में 500 रुपये के हिसाब से उन्हें 12,500 रुपये मिलते थे। अब सुप्रीम कोर्ट के आदेश के बाद उन्हें एक दिन के 672 रुपये दिया जाएगा। लेकिन काम 15 दिन का ही मिलेगा। ऐसे में उन्हें अब 10,080 रुपये ही मिलेंगे। जहां होम गार्ड पहले 25 दिन की ड्यूटी करते थे। अब 15 दिन की ही ड्यूटी करेंगे। ऐसे में होमगार्ड पहले तो खुश हुए कि पुलिस के बराबर वेतन मिलेगा। लेकिन जब ड्यूटी कम हो गई तो होमगार्ड के जवान मायूस हो गए।


मुख्य सचिव होमगार्ड अनिल कुमार ने बताया कि एक दिन की ड्यूटी के बदले 672 रुपये देने से मौजूदा बजट पर असर पड़ा है। नया बजट अगले सत्र में मिलेगा तब तक थोड़ी समस्या रहेगी।
 
सोशल मीडिया अपडेट्स के लिए हमें Facebook (https://www.facebook.com/moneycontrolhindi/) और Twitter (https://twitter.com/MoneycontrolH) पर फॉलो करें।