Moneycontrol » समाचार » ख़बरें

Air India Sale: सितंबर तक पूरी हो जाएगी एअर इंडिया की बिक्री, सरकार ने शुरू की प्रक्रिया

हरदीप पुरी ने पिछले महने कहा था कि एयर इंडिया का निजीकरण करने या इसे बंद करने के अलावा और कोई रास्ता नहीं है
अपडेटेड Apr 14, 2021 पर 10:09  |  स्रोत : Moneycontrol.com

सरकार ने राष्ट्रीय विमानन कंपनी एयर इंडिया (Air India Sale) की बिक्री के लिए फाइनेंशियल बोलियों (Financial Bids) को आमंत्रित करने की प्रक्रिया शुरू की है। सूत्रों के मुताबिक इस सौदे के सितंबर तक पूरा होने की उम्मीद है। पिछले साल दिसंबर में घाटे में चल रही एयर इंडिया (Tata Group) को खरीदने के लिए लगाई गईं शुरुआती बोलियों में टाटा ग्रुप की बोली भी शामिल है।


सूत्रों ने न्यूज एजेंसी पीटीआई से कहा कि प्रारंभिक बोलियों का विश्लेषण करने के बाद योग्य बोलीदाताओं को एयर इंडिया के वर्चुअल डेटा रूम (Virtual Data Room, VDR) तक पहुंच दी गई, जिसके बाद निवेशकों के सवालों के जवाब दिए जाएंगे। सूत्रों ने बताया कि यह सौदा अब फाइनेंशियल बोलियों के चरण में चला गया है, और इसके सितंबर तक पूरा होने की उम्मीद है।


बता दें कि सरकार एयर इंडिया में अपनी पूरी 100 प्रतिशत हिस्सेदारी बेच रही है। यह विमानन कंपनी 2007 में डोमेस्टिक ऑपरेटर इंडियन एयरलाइंस (Indian Airlines) के साथ विलय के बाद से घाटे में है। कोविड-19 महामारी के कारण हिस्सेदारी बिक्री प्रक्रिया में देरी हुई और सरकार ने प्रारंभिक बोलियां प्रस्तुत करने की समय सीमा को पांच बार बढ़ाया।


एयरलाइन के सफल बोलीदाता को घरेलू हवाई अड़्डों पर 4,400 घरेलू और 1,800 अंतरराष्ट्रीय लैंडिंग और पार्किंग स्लॉट के साथ ही विदेशों में 900 स्लॉट पर नियंत्रण मिलेगा। इस नीलामी में सस्ती सेवाएं देने वाली इसकी लो-कॉस्ट आर्म एयर इंडिया एक्सप्रेस और माल एवं यात्री सामान चढ़ाने उतारने वाली साझा इकाई AISATS की 50 प्रतिशत हिस्सेदारी भी शामिल है।


कंपनी पर कुल 60,000 करोड़ रुपये का बोझ पड़ जाने से इसकी हालत पतली हो गई है। नागर विमानन मंत्री हरदीप पुरी ने पिछले महने कहा था कि एयर इंडिया का निजीकरण करने या इसे बंद करने के अलावा और कोई रास्ता नहीं है।


सोशल मीडिया अपडेट्स के लिए हमें Facebook (https://www.facebook.com/moneycontrolhindi/) और Twitter (https://twitter.com/MoneycontrolH) पर फॉलो करें।