Moneycontrol » समाचार » ख़बरें

ड्रग्‍स केस में गिरफ्तार पामेला गोस्वामी ने कैलाश विजयवर्गीय के सहयोगी पर लगाया गंभीर आरोप

अदालत में पेशी के समय गोस्वामी ने पुलिस की पकड़ से छूटने की कोशिश की और चिल्ला कर कहा कि राकेश सिंह ने उनकी गिरफ्तारी की साजिश की है
अपडेटेड Feb 22, 2021 पर 10:58  |  स्रोत : Moneycontrol.com

ड्रग्स मामले में गिरफ्तार BJP की युवा शाखा की नेता पामेला गोस्वामी (Pamela Goswami) ने शनिवार को पार्टी के सहयोगी राकेश सिंह (Rakesh Singh) पर इसकी साजिश रचने का आरोप लगाया। अदालत में पेशी के समय गोस्वामी ने पुलिस की पकड़ से छूटने की कोशिश की और चिल्ला कर कहा कि राकेश सिंह ने उनकी गिरफ्तारी की साजिश की है। राकेश सिंह BJP की पश्चिम बंगाल इकाई के प्रभारी कैलाश विजयवर्गीय (Kailash Vijayvargiya) के करीबी हैं। भारतीय जनता युवा मोर्चा (BJYM) की बंगाल सचिव पामेला ने सिंह को गिरफ्तार करने की भी मांग की। पुलिस का आरोप है कि गोस्वामी के पास से करीब 100 ग्राम कोकीन बरामद हुई है। 


फैशन मॉडल रह चुकीं पामेला को 25 फरवरी तक के लिए पुलिस हिरासत में भेजा गया है। पामेला के थैले और कार में लाखों रुपये मूल्य का 90 ग्राम कोकीन कथित तौर पर पाए जाने के बाद उन्हें उनके मित्र प्रबीर डे (Prabir De) और उनके (पामेला के) निजी सुरक्षा गार्ड को शुक्रवार को कोलकाता के न्यू अलीपुर इलाके से गिरफ्तार किया गया था। पामेला ने शहर की अदालत से लॉक-अप में ले जाए जाने के दौरान पत्राकारों से कहा कि मैं CID (Criminal Investigation Department) जांच चाहती हूं। BJP के राकेश सिंह, जो कैलाश विजयवर्गीय के सहयोगी हैं, को गिरफ्तार किया जाना चाहिए। यह (मेरे खिलाफ) एक साजिश है। मेरे पास सारे सबूत हैं।


वहीं, राकेश सिंह ने आरोप लगाया कि सत्तारूढ़ तृणमूल कांग्रेस और कोलकाता पुलिस ने गोस्वामी को उनके खिलाफ सिखा पढ़ा दिया है। उन्होंने कहा कि वह एक साल से अधिक समय से पामेला के संपर्क में नहीं थे और किसी भी जांच का सामना करने के लिए तैयार हैं। सिंह ने कहा कि यदि मैं संलिप्त हूं तो वे मुझे या कैलाश विजयवर्गीय या अमित शाह को बुला सकते हैं। मुझे लगता है कि पुलिस ने उसे सिखाया-पढ़ाया है। मैं डेढ़ से अधिक साल से पामेला के संपर्क में नहीं हूं। उन्होंने कहा कि यह संभव है कि कोलकाता पुलिस TMC के निर्देशों का पालन कर रही हो। वे मेरे खिलाफ साजिश रच रहे हैं। मेरे खिलाफ बेबुनियादी आरोप हैं और मैं किसी भी चुनौती का सामना करने के लिए तैयार हूं।


इस बीच, तृणमूल कांग्रेस ने कहा है कि पूरा प्रकरण BJP के असली चेहरे को दर्शाता है। पार्टी महासचिव एवं राज्य में मंत्री पार्थ चटर्जी ने कहा कि इससे पहले, उनकी (BJP की) एक नेता बच्चों की तस्करी के मामले में गिरफ्तार हुई थीं। अब एक अन्य नेता ड्रग्स मामले में गिरफ्तार हुई हैं। इससे सिर्फ यही साबित होता है कि BJP और उसके नेताओं का असली चेहरा क्या है। वहीं, गोस्वामी के पिता ने कोलकाता पुलिस को बताया था कि उनकी बेटी को मादक पदार्थ की लत अपने एक मित्र के कारण लगी है और वह चाहते हैं कि उस पर निगरानी रखी जाए।


सोशल मीडिया अपडेट्स के लिए हमें Facebook (https://www.facebook.com/moneycontrolhindi/) और Twitter (https://twitter.com/MoneycontrolH) पर फॉलो करें।