Moneycontrol » समाचार » ख़बरें

Inclusive Prosperity Index में शामिल किए गए बेंगलुरु, दिल्ली और मुंबई लेकिन मिली है निचली रैंक

Inclusive Prosperity Index यानी समावेशी समृद्धि के लिहाज से दुनिया के 113 शहरों को रैंकिंग दी गई है
अपडेटेड Nov 22, 2019 पर 18:19  |  स्रोत : Moneycontrol.com

भारत के तीन शहरों- बेंगलुरु, मुंबई और दिल्ली को Global Prosperity Index यानी वैश्विक समृद्धि सूचकांक में जगह मिली है। Inclusive Prosperity Index यानी समावेशी समृद्धि के लिहाज से दुनिया के 113 शहरों को रैंकिंग दी गई है। इस लिस्ट में भारत के तीन शहरों को जगह तो मिली है लेकिन काफी निचले स्तर पर। तीन भारतीय शहर- दिल्ली, मुंबई और बेंगलुरु इस लिस्ट में निचले स्थानों पर है।


इस लिस्ट में समावेशी समृद्धि का आकलन केवल आर्थिक वृद्धि के आधार पर नहीं, बल्कि आबादी में उसके वितरण के आधार पर भी किया गया है।


Basque Institutions की ओर से D&L Partners ने Prosperity and Inclusion City Seal and Awards (PICSA) इंडेक्स तैयार किया है। इस इंडेक्स में बेंगलुरु 83वें, दिल्ली 101वें और मुंबई 107वें स्थान पर हैं।


लिस्ट में पहले स्थान पर ज्यूरिख है। उसके बाद वियनना और कोपनहेगन दूसरे और तीसरे स्थान पर हैं।


इन्क्लूसिव प्रॉस्पेरिटी के लिहाज से टॉप 10 शहरों में लक्जमबर्ग चौथे, हेलसिंकी पांचवें, ताइपे छठे, ओस्लो सातवें, ओटावा आठवें, कील नौवें और जेनेवा दसवें स्थान पर हैं।


इस रिपोर्ट में कहा गया है कि समृद्धि के परंपरागत उपायों को आर्थिक सफलता का आकलन करने का सही मानक नहीं माना जा सकता। यही वजह है कि दुनिया के शीर्ष सबसे धनी शहरों का समावेशी समृद्धि में अच्छा प्रदर्शन नहीं रहा है। अमीर शहरों में लंदन सूची में 33वें और न्यूयॉर्क सिटी 38वें स्थान पर हैं।


फोर्ब्स की 2019 की सूची के अनुसार मुंबई भी दुनिया के दस सबसे अमीर शहरों में आता है।


रिपोर्ट में कहा गया है कि अफ्रीका, एशिया और दक्षिण अमेरिका के कई शहर इस इंडेक्स में निचले स्थानों पर हैं। इससे पता चलता है कि इन शहरों में गरीबी और असमानता की बड़ी चुनौतियां हैं।




सोशल मीडिया अपडेट्स के लिए हमें Facebook (https://www.facebook.com/moneycontrolhindi/) और Twitter (https://twitter.com/MoneycontrolH) पर फॉलो करें।