Moneycontrol » समाचार » ख़बरें

BJP सांसद निशिकांत दूबे का ज्ञान- GDP रामायण या बाइबिल नहीं, भविष्य में नहीं रहेगा इसका कोई मतलब

सांसद निशिकांत दूबे ने कहा कि 1934 से पहले कोई GDP नहीं था। इसके पहले ऐसा कोई कॉन्सेप्ट नहीं था
अपडेटेड Dec 03, 2019 पर 08:37  |  स्रोत : Moneycontrol.com

भारतीय जनता पार्टी के सांसद निशिकांत दूबे ने संसद में सोमवार को अजीबो-गरीब बयान दिया है। बयान ऐसा कि इसपर सफाई आ सकती है। आर्थिक सुस्ती के दौरान उसकी ही पार्टी के ऐसे बयान सरकार के लिए मुश्किल बढ़ा सकते हैं। निशिकांत दूबे ने सोमवार को लोकसभा में गिरते GDP यानी सकल घरेलू उत्पाद को लेकर कहा कि GDP का कोई मतलब नहीं और इसका कोई भविष्य नहीं है।


सोमवार को संसद में NSSO की ओर से जारी किए GDP आंकड़ों पर चर्चा हो रही थी। इस दौरान झारखंड के गोड्डा से सांसद निशिकांत दूबे ने कहा- 1934 से पहले कोई GDP नहीं था। इसके पहले ऐसा कोई कॉन्सेप्ट नहीं था। GDP कोई सत्य नहीं है। यह रामायण, महाभारत या बाइबिल नहीं है। भविष्य यह बहुत ज्यादा उपयोगी नहीं रह जाएगा।


दूबे ने इसका कारण भी बताया। उन्होंने आगे कहा कि आज की नई थ्योरी है कि सतत कल्याण आम आदमी का हो रहा है कि नहीं हो रहा है। GDP से ज्यादा जरूरी है कि सतत विकास हो रहा है या नहीं हो रहा है।


निशिकांत दूबे का यह बयान तब आया है, जब शुक्रवार को GDP पर जारी आंकड़ों ने देश के सामने बुरी तस्वीर रखी है। GDP चालू वित्त वर्ष की दूसरी तिमाही में घटकर 4.5 फीसदी पर आ गई है। पिछले छह सालों में GDP अपने निचले स्तर पर है। बता दें कि 2018-19 में इसी अवधि में GDP 7 फीसदी थी और इस वित्त वर्ष की पहली तिमाही में पांच फीसदी थी।


सोशल मीडिया अपडेट्स के लिए हमें Facebook (https://www.facebook.com/moneycontrolhindi/) और Twitter (https://twitter.com/MoneycontrolH) पर फॉलो करें।