Moneycontrol » समाचार » ख़बरें

ये 11 शेयर 90% तक लुढ़के, कहीं आपने भी तो नहीं डूबा दिया पैसा

प्रकाशित Tue, 25, 2019 पर 11:28  |  स्रोत : Moneycontrol.com

2019 में BSE500 में अगर 24 शेयर ऐसे हैं जो 30 फीसदी से ज्यादा चढ़ चुके हैं तो 11 शेयर ऐसे भी हैं जिनमें 50 से 90 फीसदी की गिरावट आ चुकी है।


इन शेयरों में एवरेडी इंडस्ट्रीज, जैन इरिगेशन, HEG, जयप्रकाश एसोसिएट्स, मनपसंद बेवरेजेज, रिलायंस कैपिटल, DHFL, रिलांयस पावर, जेट एयरवेज, रिलायंस इंफ्रा और रिलायंस कम्युनिकेशंस है।


ये उन कंपनियों की लिस्ट है जो हाल फिलहाल में नकारात्मक खबरों की वजह से सुर्खियों में रहीं। गिरवी शेयरों की ज्यादा संख्या, कर्ज का बढ़ता बोझ, डिफॉल्ट्स और खराब मैनेजमेंट की वजह से इन कंपनियों के शेयर गिरे हैं। इससे निवेशकों का बड़ा नुकसान हुआ है।


बाजार के जानकारों का कहना है कि जिन कंपनियों में स्ट्रक्चरल समस्या है उन शेयरों से निवेशकों को दूर रहना चाहिए। रेलिगेयर ब्रोकिंग के प्रेसिडेंट (रिटेल डिस्ट्रीब्यूशन) जयंत मांगलिक का कहना है, भारतीय सूचकांकों के रिकॉर्ड हाई पर पहुंचने के बावजूद इन कंपनियों की मुश्किलें कम नहीं हुई हैं। समूचा ADAG ग्रुप और जेपी एसोसिएट्स पर कर्ज का भारी बोझ है।


18 जून तक पिछले छह महीनों में BSE500 कंपनियों के नकारात्म रिटर्न की बात करें तो सबसे ज्यादा नुकसान रिलायंस कम्युनिकेशंस के निवेशकों को हुआ है। पिछले छह महीने में इसका शेयर प्राइस 90.76 फीसदी गिरा है। इसके बाद 85.49 फीसदी गिरावट के साथ रिलायंस इंफ्रास्ट्रक्चर, 85.43 फीसदी के साथ जेट एयरवेज, 84.05 फीसदी के साथ रिलायंस पावर और 73.92 फीसदी के साथ DHFL है।


मांगलिक ने कहा कि वोडाफोन आइडिया की मार्केट हिस्सेदारी लगातार कम हो रही है। कॉरपोरेट गवर्नेंस से जुड़ी समस्या के कारण मनपसंद बेवरेजेज के शेयर गिरे हैं। लगातार बढ़ते घाटे के कारण जेट एयरवेज डूब गई है।


मौजूदा निवेशक क्या करें?


अगर आप उन निवेशकों में हैं जिन्होंने पहले ही इन कंपनियों में पैसा लगा दिया है तो आपको तुरंत इन शेयरों से निकल जाना चाहिए। निवेशकों को ऐसे शेयरों में पैसा लगाना चाहिए जिनके फंडामेंटल्स और बैलेंस शीट मजबूत हों और ग्रोथ की संभावनाएं हों।


SAMCO सिक्योरिटीज के हेड ऑफ रिसर्च उमेश मेहता का कहना है कि किसी भी कंपनी के शेयर अगर 80-90 फीसदी गिर जाते हैं तो इसका मतलब नहीं है कि वे निवेश के लिए परफेक्ट हैं। बेहतर यही है कि आप खराब शेयर से निकलकर बेहतर क्वालिटी वाले शेयरों में निवेश करें।  


निवेश के विचार एक्सपर्ट्स के निजी हैं।