Moneycontrol » समाचार » ख़बरें

बाजार की इस गिरावट में ये 11 शेयर देंगे डबल रिटर्न

बेंचमार्क सूचकांकों की गिरावट के इस दौर में अगर आप एक से 3 साल के लिए निवेश करेंगे तो फायदे में रहेंगे
अपडेटेड Aug 09, 2019 पर 09:10  |  स्रोत : Moneycontrol.com

RBI ने रेपो रेट में 35 बेसिस अंक यानी 0.35 फीसदी की कटौती की है लेकिन इससे शेयर बाजार को खास फायदा नहीं हो पाया। इकोनॉमिक स्लोडाउन, जून तिमाही के नतीजों के डाउनग्रेड होने, नकदी संकट और ट्रेड वॉर की टेंशन बढ़ने के डर से बाजार में गिरावट हावी रही।


इन चिंताओं की वजह से RBI ने फिस्कल ईयर 2020 के लिए GDP की ग्रोथ 7 फीसदी से घटाकर 6.9 फीसदी कर दिया। इसके अलावा बजट में सरचार्ज लगाने और डॉलर के मुकाबले रुपया कमजोर होने से FII बिकवाली कर रहे हैं।


मनीकंट्रोल के आंकड़ों के मुताबिक, जुलाई से अगस्त के बीच में विदेशी संस्थागत निवेशकों (FII) ने 25,000 करोड़ रुपए की बिकवाली की है। वहीं इस दौरान घरेलू संस्थागत निवेशकों (DII) ने 28,000 करोड़ रुपए से ज्यादा के शेयर खरीदे हैं।


बजट के बाद से अब तक सेंसेक्स 7 फीसदी और निफ्टी करीब 8 फीसदी तक गिर गया है। वहीं इस दौरान निफ्टी मिडकैप इंडेक्स करीब 10.5 फीसदी और स्मॉलकैप इंडेक्स 13 फीसदी तक गिर गया।


रेलिगेयर के वीपी (रिसर्च) अजीत मिश्रा ने कहा, भारतीय बाजार को लेकर हम सजग हैं। इकोनॉमिक स्लोडाउन की वजह से नतीजों का सीजन कमजोर रहा है। डोमेस्टिक सेंटीमेंट आगे भी कमजोर रह सकता है। दूसरी तरफ अमेरिका और चीन के बीच ट्रेड वॉर बढ़ने से करेंसी और ऑयल प्राइस में उतारचढ़ाव बना हुआ है।


बाजार में आई हालिया गिरावट से कुछ शेयरों का वैल्यूएशन आकर्षक हो गया है। लेकिन कमजोर नतीजों और इकोनॉमिक स्लोडाउन के कारण निवेशकों का सेंटीमेंट कमजोर है।


ज्यादातर जानकारों का कहना है कि वो धीरे-धीरे चरणबद्ध तरीके से शेयरों में खरीदारी करें। शेयर बाजार में सुधार इस साल के अंत या अगले साल नजर आ सकता है। अभी शेयरों में निवेश से बेहतर रिटर्न तभी मिलेगा जब 1-3 साल के लिए निवेश किया जाए।


कोटक इंस्टीट्यूशनल इक्विटीज ने ऑटोमोबाइल एंड कंपोनेंट्स, बैंक, कैपिटल गुड्स, डायवर्सिफाइड फाइनेंशियल्स और गैस यूटिलिटीज की 11 कंपनियों के बारे में बताया है जिनमें निवेश से आपको डबल रिटर्न मिल सकता है।


कंपनी                                           सेक्टर


CESC                                         (इलेक्ट्रिक यूटिलिटीज)


Escorts                                       (ऑटो कंपोनेंट)


Equitas Holdings                        (बैंक)


Federal Bank                             (बैंक)


Jubilant Foodworks                    (होटल्स एंड रेस्टोरेंट्स)


Kalpataru Power Transmission (कैपिटल गुड्स)


Max Financial Services             (बीमा)


Narayan Hrudayalaya               (हेल्थ केयर सर्विसेज)


Petronet LNG                            (गैस)


Prestige Estates Projects          (रियल एस्टेट)


डिस्क्लेमर: ये सलाह इनवेस्टमेंट एक्सपर्ट्स के हैं। मनीकंट्रोल अपने पाठकों को समझदारी से निवेश की सलाह देता है।


सोशल मीडिया अपडेट्स के लिए हमें Facebook (@moneycontrolhindi) और Twitter (@MoneycontrolH) पर फॉलो करें.