Moneycontrol » समाचार » ख़बरें

CBDT और CBIC के विलय पर सरकार नहीं कर रही है विचार: फाइनेंस मिनिस्ट्री

इसके पहले यह खबर आ रही थी कि TARC की सिफारिश मानते हुए सरकार इन दोनों संस्थानों का विलय कर सकता है
अपडेटेड Jul 07, 2020 पर 17:27  |  स्रोत : Moneycontrol.com

फाइनेंस मिनिस्ट्री ने सोमवार को बताया कि सरकार सेंट्रल बोर्ड ऑफ डायरेक्ट टैक्स (CBDT) और सेंट्रल बोर्ड ऑफ इनडायरेक्ट टैक्स (CBIC) के विलय के प्रस्ताव पर विचार नहीं कर रही है। मिनिस्ट्री ने बताया कि टैक्स एडमिनिस्ट्रेशन रिफॉर्म्स कमीशन (TARC) की तरफ से जो सिफारिशें मिली थीं उसमें एक विलय का भी सुझाव था। इस कमीशन के हेड पार्थसारथी सोम थे। कमिटी ने अपनी रिपोर्ट 2016 में दी थी। हालांकि इससे पहले ऐसी खबरें चल रही थीं कि सरकार CBDT और CBIC को मिला सकती है।


मीडिया रिपोर्ट को खारिज करते हुए फाइनेंस मिनिस्ट्री ने कहा कि सरकार की ऐसी कोई योजना नहीं है। सरकार डायरेक्ट टैक्स और इनडायरेक्ट टैक्स की संस्थाओं को मिलाने वाली नहीं है। फाइनेंस मिनिस्ट्री ने कहा कि TARC की रिपोर्ट पर सरकार गौर कर रही है लेकिन इसकी सिफारिशों को सरकार ने अभी माना नहीं है।


फाइनेंस मिनिस्ट्री ने यह भी बताया, "संसद में एक सवाल के जवाब में सरकार ने यह आश्वासन दिया था कि TARC की सिफारिशों को स्वीकार नहीं किया गया है। साथ ही 2018 में सरकार की अश्योरेंस कमिटी के सामने भी सरकार ने यह बात रखी थी। TARC की सिफारिशें लागू करने की एक रिपोर्ट वेबसाइट पर भी है जिससे साफ होता है कि सरकार ने कमिटी के सुझाव अभी स्वीकार नहीं किए हैं।"


सोशल मीडिया अपडेट्स के लिए हमें Facebook (https://www.facebook.com/moneycontrolhindi/) और Twitter (https://twitter.com/MoneycontrolH) पर फॉलो करें।