Moneycontrol » समाचार » ख़बरें

Chandrayaan-2 भारत का दूसरा मिशन मून, श्री हरिकोटा से हुआ लॉन्च

चंद्रयान-2 की लॉन्चिंग का रिहर्लसल सफल रहा। आज 22 जुलाई दोपहर 2:43 बजे लान्च किया गया
अपडेटेड Jul 22, 2019 पर 08:45  |  स्रोत : Moneycontrol.com

ISRO को आखिरकार कामयाबी मिली। सोमवार दोपहर 2.43 पर श्रीहरिकोटा से चंद्रयान-2 को सफलता पूर्वक लॉन्च किया गया। यह भारत का दूसरा मिशन मून है। इसरो के वैज्ञानिकों का कहना था कि यह बहुत तनाव भरा माहौल था। चंद्रयान-2 के जरिए चंद्रमा के दक्षिणी हिस्से में सॉफ्ट लैंडिंग की जाएगी। 


इससे पहले भारतीय अंतरिक्ष अनुसंधान संगठन (ISRO) की ओर से रविवार शाम 6 बजकर 43 मिनट पर चंद्रयान-2 की लांचिंग की उलटी गिनती शुरू हो गई थी। लॉन्चिंग से पहले रॉकेट और अंतरिक्ष यान प्रणाली की जांच की गई और रॉकेट के इंजन में ईंधन भरा गया। जीएसएलवी-एमके-3 रॉकेट को बाहुबली नाम दिया गया है।
इस चंद्रयान-2 को 22 जुलाई को दोपहर 2: 43 बजे श्रीहरिकोटा के सतीश धवन अंतरिक्ष केंद्र से लॉन्च किया जाएगा। पहले इसे 15 जुलाई को चंद्रयान-2 को लॉन्च किया जाना था, लेकिन ऐन वक्त पर लॉन्च व्हीकल में लीक जैसी तकनीकी खामी का पता चलने पर इसे टाल दिया गया था।


इसरो के प्रमुख डॉ. के सिवन ने बताया कि चंद्रयान-2 की लॉन्चिंग की सभी तैयारियां पूरी कर ली गई हैं। पहले प्रयास में जो भी तकनीकी कमियां देखी गई थीं उसे ठीक कर लिया गया है। रविवार शाम 6:53 बजे से चंद्रयान-2 की करीब 20 घंटे की उलटी गिनती शुरू हो गई है। चंद्रयान-2 आने वाले दिनों में 15 महत्वपूर्ण मिशन पर काम करेगा।


इसरो ने बताया कि, जीएसएलवी एमके3-एम1/चंद्रयान-2 की लॉन्च रिहर्सल पूरी हो चुकी है। इसका प्रदर्शन सामान्य है। इसरो चंद्रयान-2 को पहले अक्टूबर 2018 में लॉन्च करने वाला था। बाद में इसकी तारीख बढ़ाकर 3 जनवरी और फिर 31 जनवरी कर दी गई। बाद में अन्य कारणों से इसे इस साल 15 जुलाई तक टाल दिया गया। इस दौरान बदलावों की वजह से चंद्रयान-2 का भार भी पहले से बढ़ गया। ऐसे में जीएसएलवी मार्क-3 में भी कुछ बदलाव किए गए थे।