Moneycontrol » समाचार » ख़बरें

चंद्रयान-2: लैंडर विक्रम की लोकेशन हुई ट्रेस, ऑर्बिटर ने ली तस्वीर

ISRO चीफ ने कहा कि लेंडर विक्रम की सटीक लोकेशन का पता लगा लिया गया है। ऑर्बिटर ने लैंडर विक्रम की थर्मल इमेज भी क्लिक की है।
अपडेटेड Sep 09, 2019 पर 09:24  |  स्रोत : Moneycontrol.com

देशवासियों के लिए एक खुशखबरी है। ISRO वैज्ञानिकों ने लैंडर विक्रम की सटीक लोकेशन का पता लगा लिया है। लैंडर विक्रम चांद की सतह पर अपनी निर्धारित लोकेशन से 500 मीटर की दूरी पर दिखाई दिया। चांद के चक्कर काट रहे ऑर्बिटर ने लैंडर की थर्मल इमेज भेजी है। इसरो चीफ के. सिवन ने देशवासियों को ये खुशखबरी दी है। उन्होंने कह कि अभी तक लैंडर की इमेज मिली है। संपर्क स्थापित नहीं हो पाया है। हमारी टीम संपर्क करने के प्रयास में जुटी हुई हैं। जल्द ही लैंडर से संपर्क कर लिया जाएगा।
बता दें कि विक्रम को 7 सितंबर को रात 1 बजकर 52 मिनट 54 सेकंड पर उतरना था, लेकिन इसके लैंड करने से पहले ही  ISRO का विक्रम से संपर्क टूट गया था। उस लैंडर विक्रम चांद की सतह से महज 2.1 किमी था। सॉफ्ट लैंडिंग के महत्वपूर्ण पलों का गवाह बनने के लिए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी इसरो के बंगलूरू स्थित मुख्यालय पहुंचे थे। उनके साथ भारत के चंद्र मिशन के इतिहास का गवाह बनने के लिए देशभर से चुने हुए बच्चे भी मौजूद थे।


इसके पहले ISRO ने कहा था कि विक्रम से संपर्क अगले 3 दिन में हो सकता है। और इसके बारे में सटीक जानकारी मिल सकती है।


हालांकि जब वैज्ञानिकों का लैंडर से संपर्क टूट गया, तब वैज्ञानिकों को हिम्मत देते हुए पीएम मोदी ने कहा था कि, आपने जो किया, वह कम बड़ी उपलब्धि नहीं है। जीवन में उतार-चढ़ाव आते रहते हैं। वैज्ञानिकों का हौसला बढ़ाते हुए उन्होंने कहा कि आप छोटी-छोटी गलतियों से सीखते हैं। आपने देश की और मानव जाति की बड़ी सेवा की है। हम आशान्वित हैं और अपने अंतरिक्ष कार्यक्रम पर कड़ी मेहनत करना जारी रखेंगे।   



सोशल मीडिया अपडेट्स के लिए हमें Facebook (https://www.facebook.com/moneycontrolhindi/) और Twitter (https://twitter.com/MoneycontrolH) पर फॉलो करें।